विधानसभा चुनाव परिणाम ( Legislative Assembly Election Result )

विधानसभा चुनाव परिणाम ( Legislative Assembly Election Result ) –

आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनाव परिणाम – 2019

  • वाई एस आर कांग्रेस – 151 सीटें
  • तेलगुदेशम पार्टी – 23 सीटें
  • जन सेना पार्टी – 1 सीट

अरुणाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव परिणाम – 2019

  • BJP – 41 सीटें (50.88% वोट)
  • जनता दल (यूनाइटेड) – 7 सीटें
  • एन पी पी – 5 सीटें
  • कांग्रेस – 4 सीटें
  • अन्य – 3 सीटें

असम विधानसभा चुनाव परिणाम – 2021

  • BJP – 60 सीटें
  • भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस – 29 सीटें
  • ऑल इंडिया यूनाइटेड डोमेक्रेटिक फ्रंट – 16 सीटें
  • असोम गण परिषद – 9 सीटें
  • यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी, लिब्रल – 6 सीटें
  • बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट – 4 सिटें
  • कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सवादी) – 1 सीट
  • निर्दलीय – 1 सीट

असम विधानसभा चुनाव परिणाम 2021

असम विधानसभा चुनाव परिणाम – 2016

  • भाजपा – 60 सीटें
  • कांग्रेस – 26 सीटें
  • असम गण परिषद – 14 सीटें
  • एआईयूडीएफ – 13 सीटें
  • बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट – 12 सीटें
  • निर्दलीय – 1 सीट

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 परिणाम

  • राष्ट्रीय जनता दल – 75
  • भारतीय जनता पार्टी – 74
  • जनता दल (यूनाइटेड) – 43
  • इंडियन नेशनल कांग्रेस – 19
  • CPIMLL – 11
  • AIMIM – 5
  • HAMS – 4
  • VIP – 4
  • CPM – 3
  • CPI – 2
  • IND – 1
  • LJP -1
  • BSP – 1

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव परिणाम – 2018

  • कांग्रेस – 68
  • भाजपा – 15
  • जेसीसी (जे) – 5 सीटें
  • बसपा – 2 सीटें

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2015 –

  • आम आदमी पार्टी – 67 सीटें
  • भारतीय जनता पार्टी – 3 सीटें

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 –

  • आम आदमी पार्टी – 62 सीटें
  • भारतीय जनता पार्टी – 8 सीटें

गोवा विधानसभा चुनाव परिणाम – 2017

  • कांग्रेस – 17 सीटें
  • भाजपा – 13 सीटें
  • अन्य- 10 सीटें

गुजरात विधानसभा चुनाव परिणाम – 2017

  • भारतीय जनता पार्टी – 99 सीटें
  • कांग्रेस – 77 सीटें
  • भारतीय ट्राइबल पार्टी – 2 सीटें
  • एनसीपी – 1 सीट
  • निर्दलीय – 3 सीटें

हरियाणा विधान सभा चुनाव परिणाम – 2019

  • भारतीय जनता पार्टी – 40 सीटें
  • कांग्रेस – 31 सीटें
  • जेजेपी – 10 सीटें
  • हरियाणा लोकहित पार्टी – 1 सीट
  • आईएनएलडी – 1 सीट
  • अन्य – 7 सीटें

हिमाचल प्रदेश विधान सभा चुनाव परिणाम – 2017

  • कांग्रेस – 35 सीटें
  • भाजपा – 28 सीटें
  • अन्य – 4 सीटें

झारखंड विधान सभा चुनाव परिणाम – 2019

  • झारखंड मुक्ति मोर्चा – 30 सीटें
  • भारतीय जनता पार्टी – 25 सीटें
  • कांग्रेस – 16 सीटें
  • झारखंड विकास मोर्चा (प्रजातांत्रिक) – 3 सीटें
  • अन्य – 7 सीटें

कर्नाटक विधान सभा चुनाव परिणाम – 2019

कर्नाटक विधानसभा में कुल 224 सीटें हैं। 17 विधायकों को अयोग्य ठहराने के बाद 15 सीटों पर हुए उपचुनाव के बाद के 222 सीटों के परिणाम –

  • भाजपा – 117 सीटें
  • कांग्रेस – 68 सीटें
  • जेडीएस – 34 सीटें
  • बसपा – 1 सीट
  • निर्दलीय – 1 सीट
  • अन्य – 1 सीट

केरल विधानसभा चुनाव परिणाम – 2021

  • भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) – 62 सीटें
  • भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस – 21 सीटें
  • Communist Party of India – 17 सीटें
  • इंडियन यूनियन मुल्लिम लीग – 15 सीटें
  • अन्य पार्टी – 25 सीटें

केरल विधानसभा चुनाव परिणाम 2021

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव परिणाम – 2018

  • कांग्रेस – 114 सीटें
  • भाजपा – 109 सीटें
  • निर्दलीय – 4 सीटें
  • अन्य – 3 सीटें

इसके बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया के 22 समर्थकों ने विधानसभा और कांग्रेस की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। इससे कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने बहुमत खो दिया और सरकार गिर गई। इसके बाद साल 2020 में मध्यप्रदेश विधानसभा की 28 सीटों पर विधानसभा चुनाव हुए। इन 28 सीटों में से 19 भाजपा और 9 कांग्रेस के खाते में आयीं।

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव परिणाम – 2019

  • भाजपा – 105 सीटें
  • शिवसेना – 56 सीटें
  • नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी – 54 सीटें
  • कांग्रेस – 44 सीटें
  • बहुजन विकास अघाड़ी – 3 सीटें
  • एआईएमआईएम – 2 सीटें
  • निर्दलीय – 13 सीटें
  • अन्य – 11 सीटें

मणिपुर विधान सभा चुनाव परिणाम – 2017

  • कांग्रेस – 28 सीटें
  • भाजपा – 21 सीटें
  • अन्य – 11 सीटें

मेघालय विधान सभा चुनाव परिणाम – 2018

  • कांग्रेस – 21 सीटें 
  • नेशनल पीपुल्स पार्टी – 19 सीटें
  • यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी – 6 सीटें
  • बीजेपी – 2 सीटें
  • अन्य – 11 सीटें

मिजोरम विधान सभा चुनाव परिणाम – 2018

  • मिजो नेशनल फ्रंट – 26 सीटें
  • कांग्रेस – 5 सीटें
  • भाजपा – 1 सीट

नागालैंड विधान सभा चुनाव परिणाम – 2018

  • नागा पीपुल्स फ्रंट – 27 सीटें
  • नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी – 16 सीटें
  • भाजपा – 12 सीटें
  • नेशनल पीपुल्स पार्टी – 2 सीटें
  • जनता दल (यूनाइटेड) – 1 सीट
  • निर्दलीय – 1 सीट

ओडिशा विधान सभा चुनाव परिणाम – 2019

कुल सीटें – 146

  • बीजेडी – 112 सीटें
  • भाजपा – 23 सीटें
  • कांग्रेस – 9 सीटें
  • अन्य – 2 सीटें

पदुच्चेरी विधानसभा चुनाव परिणाम – 2021

  • ऑल इंडिया N. R. कांग्रेस – 10 सीटें
  • Dravida Munnetra Kazhagam – 6 सीटें
  • भारतीय जनता पार्टी – 6 सीटें
  • निर्दलीय – 6 सीटें
  • भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस – 2 सीटें

पदुच्चेरी विधानसभा चुनाव परिणाम 2021

पंजाब विधान सभा सीटें – (अप्रैल 2021 की स्थिति)

  • कांग्रेस – 80 सीटें
  • आम आदमी पार्टी – 19 सीटें
  • शिरोमणि अकाली दल – 14 सीटें
  • लोक इंसाफ पार्टी – 2 सीटें
  • भाजपा – 2 सीटें

राजस्थान विधान सभा चुनाव 2018, उपचुनाव 2019 – (अप्रैल 2021 के आंकडे)

  • कांग्रेस – 104 सीटें
  • भाजपा – 71 सीटें
  • राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी – 3 सीटें
  • कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सवादी) – 2 सीटें
  • भारतीय ट्राइबल पार्टी – 2 सीटें
  • राष्ट्रीय लोकदल – 1 सीट
  • निर्दलीय – 13 सीटें
  • रिक्त – 4 सीटें

सिक्किम विधान सभा चुनाव परिणाम – 2019

कुल सीटें – 32

  • सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा – 17 सीटें
  • सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट पार्टी – 15 सीटें

तमिलनाडु विधानसभा चुनाव परिणाम – 2021

तमिलनाडु विधानसभा में कुल 234 सीटें हैं। बहुमत के लिए किसी भी पार्टी को 118 सीटों की आवश्यकता होती है।

  • Dravida Munnetra Kazhagam – 133 सीटें
  • All India Anna Dravida Munnetra Kazhagam – 66 सीटें
  • भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस – 18 सीटें
  • अन्य – 17 सीटें

तमिलनाडु विधानसभी चुनाव परिणाम 2021

तमिलनाडु विधान सभा चुनाव परिणाम – 2016

  • एआईएडीएमके – 134 सीटें
  • डीएमके – 89 सीटें
  • कांग्रेस – 8 सीटें
  • अन्य – 3 सीटें

तेलंगाना विधान सभा चुनाव परिणाम –

कुल – 119 सीटें

  • तेलंगाना राष्ट्र समिति – 88 सीटें
  • कांग्रेस – 19 सीटेंए
  • AIMIM – 7 सीटें
  • तेलगूदेशम पार्टी – 2 सीटें
  • अन्य – 2 सीटें
  • भाजपा – 1 सीट

त्रिपुरा विधान सभा चुनाव परिणाम – 2018

  • भाजपा – 35 सीटें
  • सीपीएम – 16 सीटें
  • आईपीएफटी – 8 सीटें

उत्तराखंड विधान सभा चुनाव परिणाम – 2017

  • भाजपा – 56 सीटें
  • कांग्रेस – 11 सीटें
  • निर्दलीय – 2 सीटें

उत्तरप्रदेश विधान सभा चुनाव परिणाम – 2017

कुल सीटें – 403

  • भाजपा – 311 सीटें (40.6% वोट)
  • समाजवादी पार्टी – 47 सीटें
  • बसपा – 19 सीटें
  • अपना दल (सोनेलाल) – 9 सीटें
  • कांग्रेस – 7 सीटें
  • भारतीय सुहेलदेव समाज पार्टी – 4 सीटें
  • अन्य – 6 सीटें

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव परिणाम – 2021

कुल सीटें – 292

  • आल इंडिया तृणमूल कांग्रेस – 213 सीटें
  • भारतीय जनता पार्टी – 77 सीटें
  • राष्ट्रीय सेकुलर मजलिस पार्टी – 1 सीट
  • निर्दलीय – 1 सीट

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव परिणाम 2021

भारत में कितने राज्य हैं

भारत में कितने राज्य हैं ? भारत में कुल कितने राज्य हैं? वर्तमान में वर्तमान में कितने राज्य हैं ? वर्तमान में देश में कुल कितने राज्य हैं ? भारत में कितने राज्य व केंद्रशासित प्रदेश हैं ? भारत में वर्तमान में कितने राज्य व केंद्रशासित प्रदेश हैं ?

यह ऐसा सवाल है जिसका उत्तर कुछ सालों के अंतराल से बदलता रहता है। यही वजह है कि बिना जानकारी के लोग इस पर बहस करना शुरु कर देते हैं। दरअसल उनके उत्तर भी गलत नहीं होते। परंतु वे पुराने होने के कारण बदल चुके होते हैं। इसी लिए देश व विश्व के साथ जुड़े रहने के लिए निरंतर जानकारी एकत्र करते रहना आवश्यक है।

उत्तर – वर्तमान में भारत में कुल 28 राज्य व 8 केंद्रशासित प्रदेश हैं।

भारत के राज्य –

31 अक्टूबर 2019 को जम्मू-कश्मीर का राज्य का दर्जा समाप्त कर दिया गया। इसके स्थान पर दो केंद्रशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर और लद्दाख अस्तित्व में आए। इसी के साथ भारत में राज्यों की संख्या 28 हो गई।

आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, असम, बिहार, छत्तीसगढ़, गोवा, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, कर्नाटक, केरल, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, ओडिशा, पंजाब, राजस्थान, सिक्किम, तमिलनाडु, तेलंगाना, त्रिपुरा, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, पं. बंगाल

भारत के केंद्रशासित प्रदेश –

31 अक्टूबर 2019 को जम्मू – कश्मीर व लद्दाख के केंद्रशासित प्रदेश बनने के बाद देश में केंद्रशासित प्रदेशों की संख्या 9 हो गई थी। बाद में दो केंद्रशासित प्रदेशों ‘दमन व दीव’ और ‘दादर व नगर हवेली’ को मिलाकर एक कर दिया गया है। इसकी राजधानी दमन है। इसके बाद  26 जनवरी 2020 से भारत में केंद्रशासित प्रदेशों की संख्या 8 हो गई।

  • अंडमान निकोबार द्वीप समूह
  • चंड़ीगढ़
  • दादरा व नांगर हवेली और दमन व दीव
  • दिल्ली
  • जम्मू – कश्मीर
  • लद्दाख
  • लक्षदीप
  • पदुच्चेरी

इससे पहले की स्थिति –

दरअसल 2 जून 2014 को तेलंगाना राज्य के बनने के बाद भारत में 29 राज्य हो गए थे। साथ ही देश में केंद्रशासित प्रदेशों की संख्या 7 थी। इसके बाद अगस्त 2019 से जम्मू-कश्मीर से धारा 370 को समाप्त करने की प्रक्रिया प्रारंभ हुई। इसके प्रक्रिया के फलस्वरूप अक्टूबर 2019 तक जम्मू – कश्मीर का राज्य का दर्जा समाप्त कर दो केंद्र शासित प्रदेशों का निर्माण किया गया। इसके बाद भारत में राज्यों की संख्या 29 से 28 रह गई। दो केंद्रशासित प्रदेशों ‘जम्मू व कश्मीर’ और ‘लद्दाख’ के बढ़ने के बाद केंद्रशासित प्रदेश 9 हो गए। इसके बाद केंद्र सरकार ने दो केंद्रशासित प्रदेश ‘दमन व दीव’ और ‘दादर व नागर हवेली’ को एक में मिला दिया। इसके बाद भारत में केंद्रशासित प्रदेशों की संख्या 8 हो गई।