आंध्र प्रदेश सामान्य ज्ञान

आंध्र प्रदेश हिंदी प्रेम

‘आंध्र प्रदेश सामान्य ज्ञान’ शीर्षक के इस लेख में आंध्र प्रदेश से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी को साझा किया गया है। आंध्रप्रदेश भारत के 28 राज्यों में से एक है। इसकी राजधानी अमरावती है। पहले इसकी राजधानी हैदराबाद थी। आंध्रप्रदेश के विभाजन के 5 वर्ष बाद इसकी राजधानी अमरावती को घोषित कर दिया गया।

आंध्र प्रदेश हिंदी प्रेम

गठन व राजधानी –

1 अक्टूबर 1953 को आंध्रप्रदेश को राज्य का दर्जा प्राप्त हुआ। तब ‘कर्नूल’ को राज्य की राजधानी बनाया गया। इसके बाद 1 नवंबर 1956 को राज्य का विलय हैदराबाद रियासत के तेलंगाना प्रांत से किया गया। तब ‘हैदराबाद’ को राज्य की राजधानी बनाया गया। भाषायी आधार पर गठित होने वाला यह भारत का पहला राज्य है। वर्तमान में इसकी की राजधानी अमरावती है।

आंध्रप्रदेश का विभाजन –

फरवरी 2014 में राज्य के विभाजन को मंजूरी प्रदान कर दी गई। इसके बाद 2 जून 2014 को आधिकारिक रूप से राज्य का विभाजन कर नए राज्य तेलंगाना का निर्माण किया गया।

भौगोलिक सीमा व सीमावर्ती राज्य –

राज्य की पूर्वी भौगोलिक सीमा समुद्र से लगी हुई है। देश में सर्वाधिक लंबी समुद्री सीमा रखने वाले राज्यों में आंध्रप्रदेश का दूसरा स्थान है। पहले स्थान पर गुजरात का नाम आता है। आंध्रप्रदेश की सीमा से लगे राज्य ओडिशा, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, कर्नाटक, व तमिलनाडु हैं।

उच्च न्यायालय –

राज्य अमरावती हाई कोर्ट के न्यायिक क्षेत्र के अंतर्गत आता है। 1 जनवरी 2019 को अमरावती उच्च न्यायालय की स्थापना हुई। इससे पहले यह राज्य तेलंगाना हाईकोर्ट के न्यायिक क्षेत्र के अंतर्गत आता था।

इसे भी पढ़ें  सिक्किम सामान्य ज्ञान (Sikkim General Knowledge)

आंध्रप्रदेश : एक नजर में

राज्यआंध्रप्रदेश
राजधानीअमरावती
स्थापना1 नवंबर 1956
मुख्यमंत्रीवाई. एस. जगनमोहन रेड्डी
राज्यपालबिस्वा भूषण हरिचंदन
जिले13
क्षेत्रफल1,60,205 वर्ग किमी.
सबसे बड़ा शहरविशाखापट्टनम
राजकीय पशुकाला हिरण
राजकीय पक्षीतोता
राजकीय वृक्षनीम
प्रमुख भाषाएंतेलुगू
उच्च न्यायालयअमरावती हाईकोर्ट
हाईकोर्ट का स्थापना1 जनवरी 2019
राज्य विधायिकाएकसदनीय
विधानसभा सदस्य175
लोकसभा सदस्य25
राज्यसभा सदस्य11
जनघनत्व308
लिंगानुपात992
तटरेखा की लंबाई974 किमी.
प्रथम राज्यपालई. एस. लक्ष्मी नरसिम्हन
प्रथम मुख्यमंत्रीनीलम संजीव रेड्डी
नृत्यओट्टम, व कुचिपुड़ी
प्रमुख नदियांकृष्णा, व गोदावरी
जिले –

आंध्र प्रदेश में कुल 13 जिले हैं –

  1. Anantpur (अनंतपुर)
  2. Chittoor
  3. East Godavari (पूर्वी गोदावरी)
  4. Guntur (गुंटूर)
  5. Krishna
  6. Kurnool (कुर्नूल)
  7. Prakasam
  8. Srikakulam
  9. Sri Potti Sriramulu Nellore
  10. Visakhapatnam (विशाखापट्टनम)
  11. Vizianagaram
  12. West Godavari (पश्चिमी गोदावरी)
  13. YSR District Kadapa (Cuddapah)

आंध्र प्रदेश के राज्यपालों की सूची –

  • ई. एस. लक्ष्मी नरसिम्हन
  • नरायण दत्त तिवारी
  • श्री रामेश्वर ठाकुर
  • सुशील कुमार सिंधे
  • सुरजीत सिंह बरनाला
  • डॉ. सी रंगराजन
  • जी. रामानुजम
  • श्री कृष्ण कांत
  • श्रीमती कुमुदबेन मणिशंकर जोशी
  • डॉ. शंकर दयाल शर्मा
  • श्री रामलाल
  • के. सी. अब्राहम
  • श्रीमती शारदा मुखर्जी
  • बी. जे. दिवान
  • आर. डी. भंडारी
  • मोहनलाल सुखाड़िया
  • एस. ओबुल रेड्डी
  • खांडुबाई कासंजी देसाई
  • पी. ए. थानुपिल्लई
  • एस. एम. श्रीनागेश
  • भीमसेन सच्चर
  • सी. एम. त्रिवेदी
  • बिस्वा भूषण हरिचंदन
इसे भी पढ़ें  पंजाब सामान्य ज्ञान (Punjab General Knowledge)

आंध्र प्रदेश सामान्य जानकारी –

  • अक्टूबर 2020 में नितिन गडकरी ने राज्य में 1411 किमी. से अधिक लंबी 16 नेशनल हाईवे परियोजनाओं का शिलान्यास किया।
  • अक्टूबर 2020 में राज्य के मुख्यमंत्री वाई. एस. जगन मोहन रेड्डी ने 650 करोड़ की जगन्ना विद्या कनुका योजना की शुरुवात की।
  • राज्य सरकार ने अक्टूबर 2020 में किसानों के लिए ‘जल कल योजना‘ की शुरुवात की।
  • पैसों के लेन देन से संबंधित ऑनलाइन गेम्स पर सितंबर 2020 में राज्य सरकार ने रोक लगा दी।
  • सितंबर 2020 में राज्य सरकार ने मुफ्त कृषि बिजली आपूर्ति के लिए संशोधित नीति को मंजूरी दी।
  • महिलाओं की रक्षा हेतु ई-रक्षाबंधन कार्यक्रम की शुरुवात अगस्त 2020 में की।
  • राज्य की तीन राजधानियों संबंधी योजना को राज्यपाल विश्वभूषण हरिचंदन ने 31 जुलाई 2020 को मंजूरी प्रदान की। इसके तहत राज्य की तीन राजधानियां विशाखापट्टनम (कार्यपालिका), अमरावती (विधानपालिका), कुर्नूल (न्यायपालिका) होंगी।
  • जनवरी 2020 में राज्य विधानपरिषद को समाप्त कर दिया गया। तब इसकी सदस्य संख्या 58 थी।
  • जनवरी 202 में मुख्यमंत्री वाई. एस. जगन मोहन ने राज्य में अम्मा वोडी योजना की शुरुवात की।
  • दिसंबर 2019 में राज्य सरकार ने ‘आंध्र प्रदेश दिशा कानून’ लागू किया। इसके तहत राज्य में रेप मालमों में 21 दिन में सुनवाई की जाएगी। इसके लिए सभी जिलो में विशेष अदालतों का गठन किया जाएगा।
इसे भी पढ़ें  दिल्ली सामान्य ज्ञान (Delhi General Knowledge)

– आंध्र प्रदेश सामान्य ज्ञान लेख समाप्त।

(Visited 114 times, 1 visits today)