जन्तु विज्ञान प्रश्न उत्तर ( Zoology Question Answer )

जन्तु विज्ञान प्रश्न उत्तर ( Zoology Question Answer ) : 

जन्तु विज्ञान का जनक किसे कहा जाता है ?

अरस्तु को

वनस्पति विज्ञान का जनक किसे कहा जाता है ?

थियोफ्रेस्टस

वर्गिकी का जनक किसे कहा जाता है ?

कैरोलस लीनियस को

जीवधारियों को वर्गीकृत करने का प्रयास सबसे पहले किसने किया ?

अरस्तु ने

मनुष्य की शरीर में कितनी पेशियाँ होती हैं ?

639

मनुष्य के शरीर में कितनी हड्डियां होती हैं ?

206

मनुष्य के मस्तिष्क का भार कितना होता है ?

1400 ग्राम

मुनष्य में रक्त समूहों की खोज किसने की ?

कार्ल लैण्डस्टीनर

रक्त समूहों का वर्गीकरण किसके आधार पर किया गया ?

एंटीजन व एंटीबॉडी

सर्वदाता रक्त समूह कौनसा होता है ?

O

सर्वग्राही रक्तसमूह कौनसा होता है ?

AB

मानव का वैज्ञानिक नाम क्या है ?

होमो सैपियन्स

Systema Naturae पुस्तक किसने लिखी ?

कैरोलस लीनियस ने

Genera Plantarum नामक पुस्तक किसने लिखी ?

कैरोलस लीनियस ने

तीन जगत वर्गीकरण किसने दिया ?

ई. एच. हीकर ने

पाँच जगत वर्गीकरण किसने दिया ?

व्हिटेकर ने

PPLO का प्रयोग किसके लिए किया जाता है ?

माइक्रोप्लाज्मा के लिए

पादप विषाणु में कौनसा न्यूक्लिक अम्ल पाया जाता है ?

RNA

जीवों के नामकरण की द्विपद पद्यति किसने शुरु की ?

कैरोलस लीनियस

जाति (Species) शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग किसने किया ?

जॉन रे

जातिवृत्त किसे कहते हैं ?

किसी जाति के सदस्यों का विकासीय इतिहास

जन्तुओं को संघों व संघों को वर्गों में सर्वप्रथम किसने विभाजित किया ?

जॉर्ज क्यूवियर ने

वर्गीकरण की मूलभूत इकाई क्या है ?

जाति (Species)

पादप कोशिका से भिन्न प्राणी कोषिका में क्या पाया जाता है ?

कोषा भित्ति व हरितलवक का अभाव

सजीव और निर्जीव के बीज की कड़ी क्या है ?

वायरस

अरस्तु ने जन्तुओं का वर्गीकरण किन दो समूहो में किया ?

इनैइमा और ऐनेइमा

वर्गीकरण की कौन कौनसी पद्यति प्रचलित हैं ?

प्राकृतिक, कृत्रिम, जातिवृत्तीय

आधुनिक वर्गीकरण का जनक किसे कहा जाता है ?

कैरोलस लीनियस को

जन्तुओं में किस प्रकार का पोषण पाया जाता है ?

जन्तुसम या होलोजोइक

जीवधारियों के पांच जगत कौन कौनसे हैं ?

मोनेरा, प्रोटिस्टा, एनिमेलिया, प्लान्टी, फंजाई।

एककोशिकीय प्रोकैरियोटिक जीवधारी किस जगत में आते हैं ?

मोनेरा जगत

जन्तु उपभोक्ता क्यों कहलाते हैं ?

क्योंकि वे अपना भोजन स्वयं नहीं बना सकते।

शैवाल और कवक की सहजीविता को क्या कहते हैं ?

लाइकेन

वायरस किस से बना होता है ?

न्यूक्लियो प्रोटीन्स से

संक्रामक प्रोटीन्स को क्या कहते हैं ?

प्रिओन्स

सर्वप्रथम वायरस की खोज किसने की ?

इवानोवस्की ने

इवानोवस्की ने किस विषाणु की खोज की ?

तम्बाकू मोजेक वायरस की

एकरज्जुकी RNA के छोटे-छोटे प्रोटीन आवरण रहित अणु क्या कहलाते हैं ?

वायरॉइड

शैवालों का अध्ययन क्या कहलाता है ?

फाइकोलॉजी

प्रोकैरियोटिक कोशिका में क्या अनुपस्थित रहता है ?

केन्द्रक कला

यूग्लीना में प्रचलन किसके द्वारा होता है ?

कशाभ

पैरामीशियम में प्रचलन या गमन किसके द्वारा होता है ?

पक्ष्माभ

फाइटोप्लैंक्टन क्या हैं ?

स्वतंत्र रूप से जल पर प्लवन करने वाले स्वपोषी सूक्ष्मपादप

जूप्लैंक्टन क्या हैं ?

सूक्ष्मदर्शी परपोषी जलीय जन्तु

किस संघ के सदस्य द्विकोरिक या द्विस्तरीय होते हैं ?

सीलेन्ट्रेटा संघ

किस संघ के सदस्यों में खुला रक्त परिसंचरण पाया जाता है ?

आर्थोपोडा व मोलस्का संघ

किस संघ के सदस्यों में हीमोसील पायी जाती है ?

आर्थोपोडा संघ

किस संघ के सदस्यों में शाइजोसील पायी जाती है ?

आर्थोपोडा, मोलस्का, ऐनेलिडा संघों में

उभयलिंगी जंतु कौन हैं ?

केंचुआ व जोंक

कीप कोशिकाएं किस संघ की विशेषता है ?

पोरीफेरा संघ

किस संघ के जीवों में दंश कोशिकाएं पायी जाती हैं ?

सीलेंट्रेटा संघ

प्राणी के द्वारा प्रकाश उत्सर्जन करना क्या कहलाता है ?

जीवसंदीप्ति (Bioluminescence)

पैराटिड विष ग्रंथियां किस मेढक में पायी जाती हैं ?

सामान्य टोड ब्यूफो

रेंगने वाले जन्तु किस वर्ग में आते हैं ?

सरीसृप

कौनसी छिपकली में जहर होता है ?

हेलोडर्मा

पक्षियों के ध्वनि उत्पादक अंग क्या कहताले हैं ?

सिरिंक्स (syrinx)

अण्डे देने वाले स्तनधारियों को किस उपवर्ग में रखा गया है ?

प्रोटोथीरिया

सरीसृप और स्तनी वर्ग के बीच की कड़ी है ?

ऑर्निथोरिंकस

अविकसित शिशु को जन्म देने वाले जीव हैं ?

कंगारू, और ओपोसम

कंगारू के पास जो थैली होती है उसे क्या कहा जाता है ?

मार्सूपियम

किस जन्तु में प्रतिध्वनि तंत्र (राडार) पाया जाता है ?

चमगादड़

मनुष्य किस वर्ग में आता है ?

स्तनी

मनुष्य किस गण में आता है ?

प्राइमेट्स

सबसे छोटी मछली कौनसी होती है ?

गोबी मछली (पैन्डेका)

सबसे छोटा पक्षी कौनसा है ?

मर्मरी पक्षी (हमिंग बर्ड)

ब्लू व्हेल का वैज्ञानिक नाम क्या है ?

Balaenoptera Musculus

सिल्वर फिश किस संघ में आता है ?

आर्थोपोडा

सिल्वर फिश किस वर्ग में आता है ?

कीट वर्ग

किन सांपों में जहर नहीं होता ?

अजगर (Python), दोमुही (Eryx)

किसानों का मित्र किस जंतु को कहा जाता है ?

केंचुए

सामाजिक कीट कौन कौन से हैं ?

मक्खी और दीमक

समुद्र की तली पर रहने वाले जीवों को क्या कहा जाता है ?

नितस्थल जन्तु (Benthic animals)

किस संघ का प्रमुख लक्षण जल संवहन तन्त्र है ?

इकाइनोडर्मेटा

किस जन्तु समूह संघ के जीव सिर्फ समुद्री ही होते हैं ?

इकाइनोडर्मेटा

पादविहीन उभयचर कौन है ?

इक्थियोफिस

प्रोटोजोआ का कौनसा समूह पूर्णतः परजीवी है ?

स्पोरोजोआ

पोरीफेरा का वर्गीकरण किस आधार पर किया गया है ?

कंटिकाएं

बहुरूपता किसमें पायी जाती है ?

सीलेंट्रेट्स में

तरल संयोजी ऊतक कौन कौन से हैं ?

रुधिर व लसीका

पेशियां कितने प्रकार की होती हैं ?

तीन (हृदय पेशी, रेखित या कंकाल पेशी, अरेखित पेशी)।

अस्थि किस प्रकार का ऊतक है ?

संयोजी ऊतक

रुधिर प्लेटलेट्स किसके लिए आवश्यक है ?

रुधिक स्कंदन के लिए

उपास्थि कितने प्रकार की होती है ?

चार (लचीची, तन्तुमय, काचाभ, कैल्सीकृत)

मनुष्य के शरीर में कितना खून होता है ?

भार का 7 प्रतिशत

श्वेत रुधिराणुओं में सर्वाधिक संख्या किन कोशिकाओं की होती है ?

न्यूट्रोफिल्स

किन कोशिकाओं में विभाजन नहीं होता ?

तन्त्रिका कोशिका

लिम्फोसाइट का प्रमुख कार्य क्या होता है ?

प्रतिरक्षी का निर्माण व रोगाणुओं का भक्षण

रेखित पेशियों में कौनसे प्रोटीन्स पाये जाते हैं ?

ऐक्टिन और मायोसीन

रक्त वाहिनियों में कौनसे ऊतक पाये जाते हैं ?

शल्कीय उपकला ऊतक

रेखित पेशियों में थकावट का कारण क्या है ?

लैक्टिक अम्ल

अस्थि को पेशियों से जोड़ने वाले ऊतक को क्या कहते हैं ?

कण्डरा (Tendon)

कौनसे रसायन मास्टर कोशिकाओं से स्त्रावित होते हैं ?

हिपैरिन, हिस्टैमीन, सिरोटोनिन आदि।

कौनसा पदार्थ रक्त को जमने से रोकता है ?

हिपैरिन

हिस्टैमीन का कार्य क्या होता है ?

यह रुधिर वाहिनियों को फैलाकर जलन, सूजन व प्रदाह संबंधित प्रक्रियाओं को बढ़ाता है।

सिरोटोनिन का क्या कार्य होता है ?

यह रक्तवाहिनियों को सिकोड़कर रक्त स्त्राव को कम करता है।

कौनसी कोशिकाएं कोलैजन व इलास्टिन तन्तुओं को स्त्रावित करती हैं ?

फाइब्रोब्लास्ट कोशिकाएँ।

कौनसा प्रमुख प्लाज्मा प्रोटीन रक्त का थक्का बनाने में सहायक है ?

फाइब्रिनोजन प्रोटीन

श्वते रुधिराणुओं का निर्माण कहाँ पर होता है ?

लसीका गाँठों, अस्थिमज्जा, व प्लीहा में

नेफ्रान क्या है ?

उत्सर्जन तंत्र की संरचनात्मक और क्रियात्मक इकाइयां

तंत्रिका तंत्र की क्रियात्मक और रचनात्मक इकाई है ?

नेफ्रान

रेटिकुलर ऊतक कहाँ पाये जाते हैं ?

मुख्यः प्लीहा में

रेटिकुलर ऊतकों के कार्य क्या हैं ?

ये हानिकारक जीवाणुओं, मृत कोशिकाओं व अन्य हानिकारक पदार्थों का भक्षण कर उसे नष्ट करते हैं।

सामान्य की तुलना में भूरी वसा से कितनी ऊर्जा मुक्त होती है ?

20 गुना अधिक

तिलचट्टे का वैज्ञानिक नाम क्या है ?

पेरिप्लैनेटा अमेरिकाना (Periplaneta Americana)

तिलचट्टे के रक्त में कौनसा श्वसन वर्णक पाया जाता है ?

कोई सा नहीं

तिलचट्टे के सिर सम्पुट का निर्माण कितने खण्डों में होता है ?

6 भ्रूणीय खण्डों में

तिलचट्टे में श्वसन किसके माध्यम से होता है ?

Trachea ( श्वासनाल )

कीटों में कितनी टांगें पायी जाती हैं ?

3 जीड़ी

कॉकरोच में अण्डाणुओं की सुरक्षा के लिए क्या होता है ?

Ootheca (अण्डकवच)

तिलचट्टे के मुख्य उपांग कौनसे हैं ?

मैंडिबल

कीटों में उत्सर्जी अंग क्या है ?

मैल्पीघी नलिकाएं

अस्थियों को आपस में जोड़े वाले ऊतक क्या कहलाते हैं ?

स्नायु

उपास्थि के बाहरी खोल को क्या कहते हैं ?

पेरिकॉन्ड्रियम

सर्दियों में कंपकंपी आना व दाँत किटकिटाना किससे संबंधित है ?

ताप नियमन

ऐच्छिक पेशियां किस अंग में पायी जाती हैं ?

पाद में

A-पट्टियों के मध्यभाग को क्या कहते हैं ?

सार्कोमियर

भूरी वसी की कोशिकाएं कैसी होती हैं ?

अधिक माइटोकॉन्ड्रिया युक्त

हैवर्सियन नलिकाँ कहाँ पायी जाती हैं ?

स्तनी की लम्बी अस्थियों में

रक्त का थक्का बनाने में क्या सहायक होता है ?

रक्त प्लेटलेट्स

पेशियों में संकुचनशील प्रोटीन कौनसी होती है ?

ऐक्टिन

लसिका रक्त से किस प्रकार भिन्न है ?

लाल रुधिराणुओं की अनुपस्थिति

आर्थोपोड्स के रक्त में कौनसा वर्णक पाया जाता है ?

हीमोसायनिन

पेरिप्लेनेटा का रुधिर ऑक्सीजन क्यों नहीं ले जाता ?

क्योंकि आक्सीजन का परिवहन ट्रेकियल जाल द्वारा होता है।

नर काकरोच के जनन अंग कौनसे हैं ?

यूट्रीकुलर ग्रंथि, फेलिक ग्रंथि, स्खलन नलिका।

मनुष्य के लिए आवश्यक पोषक तत्व कौनसे हैं ?

कार्बोहाइड्रेट, वसा, प्रोटीन, विटामिन, खनिज।

आहारनाल के किस भाग में रसांकुर पाए जाते हैं ?

क्षुद्रांत (ileum) में।

पचे हुए भोज्य पदार्थ का अवशोषण किसके द्वारा होता है ?

रसांकुर

मनुष्य में कितनी लार ग्रंथियां होती हैं ?

3 जोड़ी

मनुष्य में पाचन कहाँ शुरु होता है ?

मुखगुहा में

विटामिन B1 (थायमीन) की कमी से होने वाला रोग कौनसा है ?

बेरी-बेरी

पेप्सिन का स्त्रावण कहाँ पर होता है ?

आमाशय की जठर ग्रंथियों में

पचे भोजन का अवशोषण आहार नाल के किस भाग में होता है ?

छोटी आंत में

पित्त का सबसे महत्वपूर्ण कार्य कौनसा है ?

वसा का इमल्सीकरण (इसमें वसा का भली-भांति पाचन होता है)

मनुष्य में चर्मदाह रोग किसकी कमी से होता है ?

विटामिन B5

लैंगरहैंस की द्पीपिकाएं कहाँ पायी जाती हैं ?

अग्न्याशय में

कृदन्त किन जन्तुओं में पाए जाते हैं ?

स्तनी जन्तु

लाइपेज और इमाइलेज में क्या अंतर होता है ?

लाइपेज वसा पाचन करता है और एमाइलेज कार्बोहाइड्रेट का पाचन करता है।

कोप्रोफेगी (मलभोजिता) किसे कहते हैं ?

कुछ शाकाहारी जन्तु अपने मल को पुनः खा लेते हैं। जिससे उसमें उपस्थित अर्द्धपचित सेलुलोज का पाचन पूरा हो जाता है।

पेप्सिन किस माध्यम में सक्रिय होता है ?

अम्लीय माध्यम

लीबहकुहन प्रगुहिका (srypts of Lieberkuhn) कहाँ पायी जाती है ?

क्षुद्रांत्र में

आमाशय रस में क्या क्या होता है ?

पेप्सिन, रेनिन, लाइपेज

सक्कस एंटेरिकस नाम किसके लिए दिया गया है ?

आंत्रिक रस के लिए

मानव शरीर की सबसे बड़ी ग्रंथि कौनसी है ?

यकृत

मानव शरीर का सबसे बड़ी अंग कौनसा है ?

त्वचा

विलिवर्डीन और बलिरुबिन कहाँ पाए जाते हैं ?

पित्त रस में

कौनसा अमीनो अम्ल डीकार्बोक्सीकरण द्वारा स्केटोल बनता है ?

ट्रिप्टोफेन

मसूड़ों में रक्त बहने की समस्या से बचने के लिए किस प्रकार के भोज्य पदार्थ खाने चाहिए ?

सिट्रस फल

वसा का इमल्सिफिकेशन किसके द्वारा होता है ?

पित्त लवक

मानव के कितने दाँत दो बार निकलते हैं ?

20 दाँत

भूख लगने पर मानव सबसे पहले किसे उपयोग में लाता है ?

ग्लाइकोजन

मनुष्य में एकदंतीय दांत कितने होते हैं ?

12

किसकी कमी से हमें भूख का आभास होता है ?

रक्त सर्करा की मात्रा कम होने पर

मानव शरीर की कुल फुफ्फुस सामर्थ्य (Total Lung Capacity) क्या है ?

फेफड़ों में कुल वायु की क्षमता

मनुष्य के दाहिने फेफड़े में कितने लोब होते हैं ?

तीन

ग्लूकोज के जलने से क्या उत्पन्न होता है ?

कार्बन डाई ऑक्साइड और जल के साथ ऊर्जा मुक्त होती है

रक्त में आक्सीजन की मात्रा कितनी होती है ?

लगभग 20 प्रतिशत

हीमोग्लोबिन और पर्णहरित के रासायनिक तत्वों में क्या अंतर है ♠?

हीमोग्लोबिन में आयरन होता है और पर्णहरित में मैग्नीशियम

वातावरण में कार्बन डाई ऑक्साइड कितनी होती है ?

0.03 प्रतिशत

सामान्यतः मनुष्य की श्वांस दर कितनी होती है ?

12-15 प्रति मिनट

हीमोग्लोबिन द्वारा संवहित आक्सीजन की मात्रा कितनो होती है ?

97 प्रतिशत

रुधिर द्वारा कार्बन डाई आक्साइड की सर्वाधिक मात्रा किस रूप में संवहित होती है ?

बाइकार्बोनेट्स

ग्लाइकोलिसिस का अंतिम उत्पाद क्या होता है ?

पाइरुविक अम्ल

किसकी उपस्थिति के कारण कुछ जंतुओं के रक्त का रंग लाल होता है ?

हीमोसायनिन

ATP के एक मोल के पूर्ण आक्सीकरण से कितनी ऊर्जा मुक्त होती है ?

7.6 किलो कैलोरी

1 ग्राम हीमोग्लोबिन द्वारा रुधिर में कितनी आक्सीजन का परिवहन होता है ?

1.34 मिली

हीमोग्लोबन स्थायी यौगिक किसके साथ बनाता है ?

CO

मनुष्य की सजीव क्षमता कितनी होती है ?

4600 मिमी

ट्राइ कार्बोक्सिलिक चक्र की खोज किसने की ?

क्रेब्स ने

मिट्रल कपाट कहाँ स्थित होता है ?

बाएँ आलिन्द और बाएं निलय के बीच

कैरोटिको सिस्टेमिक चाप कहाँ से शुरु होता है ?

बाएं आलिन्द से

किस शिरा में शुद्ध रक्त प्रवाहित होता है ?

पल्मोनरी शिरा

कॉर्डी टेन्डिनी कहाँ स्थित होता है ?

निलयों में

हृदय के किस भाग में शुद्ध रक्त पाया जाता है ?

बायां भाग

रक्तदाब किस यंत्र से नापते हैं ?

स्फिग्नोमैनोमीटर

हृदय ध्वनि को किस यंत्र के माध्यम से सुना जाता है ?

स्टेथोस्कोप

तरल ऊतक कौन कौन से होते हैं ?

रक्त व लसीका

रुधिर प्लेटलेट्स का क्या कार्य है ?

रक्त में स्कंदन में सहायक

स्तनी जीवों में हृदय स्पंदन कहाँ शुरु होता है ?

S-A नोड

जीवों के शरीर का रुधिर बैंक किसे कहा जाता है ?

प्लीहा

नब्ज की दर किसमें नापी जाती है ?

धमनी

हृदय पेशियों की विशेषता क्या होती है ?

बिना थकावट तीव्र संकुचन

हृदय की अस्वस्थता किससे प्रदर्शित होती है ?

एथीरोस्क्लीरोसिस

एंजाइना का मुख्य कारण क्या है ?

वृद्धावस्था, अधिक रक्त बहाव, हृदय पेशी में अपर्याप्त आक्सीजन का पहुँचना

रुधिक स्कंदन को रोकने के लिए किसकी आवश्यकता होती है ?

सोडियम ऑक्सोलेट

वृक्क की संरचनात्मक एवं कार्यात्मक इकाई क्या है ?

वृक्क नलिका या नेफ्रान

सर्वाधिक पुनरावशोषण नेफ्रान के किस भाग में होता है ?

Proximal Convoluted Tubule

यकृत की उत्सर्जन में क्या भूमिका है ?

अमोनिया को यूरिया में बदलना

अमोनिया को यूरिया में बदलने की प्रक्रिया किसके द्वारा संपन्न होती है ?

ऑर्निथीन चक्र

मनुष्य का मुख्य उत्सर्जी पदार्थ कौनसा है ?

यूरिया

सामान्य जीवों में अमोनिया का उत्सर्जन किस प्रकार होता है ?

सामान्य विसरण द्वारा

केशिकागु्च्छ कहाँ पाया जाता है ?

बोमैन सम्पुट में

मनुष्य के शरीर में प्रोटीन के जारण से कौनसे पदार्थ उत्पन्न होते हैं ?

यूरिया, अमोनिया, यूरिक अम्ल

परासरणी केंद्र कहाँ स्थित होता है ?

हाइपोथैलेमस में

अमोनिया, यूरिया व यूरिक अम्ल में सर्वाधिक विषाक्त पदार्थ कौनसा है ?

अमोनिया

रक्त में यूरिया की मात्रा बढ़ जाने से कौनसा रोग होता है ?

यूरीमिया

ADH की कमी से कौनसा विकार होता है ?

मूत्रलता

किस समुदाय के जंतुओं में ग्रीन ग्रंथियाँ पायी जाती हैं ?

आर्थोपोडा संघ के क्रस्टेशियन जीवों में

संघ पोरीफेरा के सदस्यों में किस प्रकार का उत्सर्जन होता है ?

सामान्य विसरण द्वारा

सीलेंट्रेटा के सदस्यों में किस प्रकार का उत्सर्जन होता है ?

सामान्य विसरण द्वारा

वृक्कों की संरचनात्मक व क्रियात्मक इकाई कौनसी है ?

नेफ्रान

हेन्ले के लूप में क्या होता है ?

ग्लोमेरुलर निस्यन्दन

परानिस्यन्दन कहाँ होता है ?

वृक्कीय सम्पुट में

मानव में उपापचयी पदार्थ ग्वानीन व ऐडेनीन किस रूप में उत्सर्जित होते हैं ?

ऐलेन्टॉइन

मनुष्यों में मुख्य उत्सर्जी पदार्थ कौनसा होता है ?

यूरिया

सरीसृपों व पक्षियों में मुख्य उत्सर्जी पदार्थ कौनसा होता है ?

यूरिक अम्ल

जल व सोडियम का सर्वाधिक अवशोषण किसमें होता है ?

समीपस्थ कुण्डलित नलिका में

वृक्क क्रियाओं का नियमन किसके द्वारा होता है ?

ऐड्रिनोकॉर्टिकोट्रापिन हार्मोन

किसके द्वारा यकृत में यूरिया का निर्माण होता है ?

ऑर्निथीन चक्र

किस से ग्रस्त होने पर डायलिसिस की आवश्यकता होती है ?

यूरेमिया

रुधिर का वह घटन कौनसा है जो नेफ्रान में प्रवेश नहीं करता है ?

प्लाज्मा प्रोटीन

वृक्क द्वारा कौनसा हार्मोन स्त्रावित होता है ?

एरिथ्रोपोइटिन

किस रोग में मूत्र के साथ रुधिर निकलता है ?

हीमाटूरिया

मानव में सहायक उत्सर्जी अंग कौन कौन से हैं ?

त्वचा, फेफड़े, यकृत व आंत्र।

शारीरिक गतियों के वैज्ञानिक अध्ययन को क्या कहते हैं ?

काइनेसिओलॉजी (Kinesiology)

मानव शरीर की सबसे लम्बी हड्डी कौनसी होती है ?

फीमर (जाँघ की हड्डी)

मानव शरीर की सबसे छोटी हड्डी कौनसी होती है ?

स्टेपीज

मृत्यु के बाद होने वाली पेशी संकुचन प्रक्रिया को किस नाम से जाने जाता हैं ?

रिंगर मोरटिस (Ringer Mortis)

रिंगर मोरटिस सर्वप्रथम किस पेशी से शुरु होता है ?

हनु पेशियों से

मानव के अक्षांशीय कंकाल में कितनी अस्थियां होती हैं ?

80 अस्थियां

मानव के कशेरुक दण्ड में कितने वक्र होते हैं ?

4 मुख्य वक्र (ग्रीवा वक्र, वक्षीय वक्र, सेक्रमी वक्र, और कटि वक्र)

वक्षीय पिंजरा किससे बना होता है ?

वक्षीय कशेरुकाओं, पसलियों, डायाफ्राम और उपोस्थि से

बच्चों व प्रौढ़ व्यक्तियों की अस्थियों में क्या अंतर है ?

प्रोटीन्स की अधिकता के कारण बच्चों की अस्थियां लचीली होती हैं, कैल्सियम लवणों की अधिकता के कारण प्रौढ लोगों की अस्थियां भंगुर होती हैं।

अस्थिभंग कितने प्रकार का होता है ?

तीन प्रकार का (साधारण, ग्रीन स्टिक, व संयुक्त अस्थिभंग)

मनुष्य के चेहरे में कितने अस्थियां होती हैं ?

14 अस्थियां

संधि पर स्नायु के अत्यधिक खिंच जाने से क्या होता है ?

मोच आ जाती है

संधिभंग किसे कहते हैं ?

दो अस्थियों के बीच स्नायु का टूटना या फटना

स्यायु (Ligament) किसे कहते हैं ?

दो अस्थियों को जोड़ने वाले पीत, लचीले तल्तुमय संयोजी ऊतक को

कण्डरा (Tendon) किसे कहते हैं ?

पेशी को अस्थि से जोड़ने वाले श्वेत तन्तुमय संयोजी ऊतक को

जोड़ों में यूरिक ऐसिड के एकत्र होने से क्या होता है ?

गाउट संधिशोथ

पेशियों में थकावट क्यों होती है ?

पेशियों में लैक्टिक अम्ल के संयच से

कैल्सियम आयन्स की कमी से शरीर में क्या प्रभाव पड़ता है ?

पेशियों में तीव्र ऐंठन (अपतानिका/tetany)

कौनस छड़ों के कारण पेशी तन्तु में संकुचन होता है ?

एक्टिन छड़ों के मायोसीन छड़ों के ऊपर फिसल जाने से

पेशी संकुचन के लिए आवश्यक ऊर्जा कहाँ से प्राप्त होती है ?

ATP और क्रिएटिन फास्फेट से

पेशी संकुचन के लिए कौनसा अकार्बनिक आयन आवश्यक होता है ?

कैल्सियम आयन

मनुष्य के निचले जबड़े की मुख्य अस्थि कौनसी है ?

मैण्डिबल (mandible)

कंकाल तंत्र का उद्गम भ्रूण के किस स्तर से होता है ?

भ्रूण के मीसोडर्म से

पेशी तन्तु संकुचन का छड़ विसर्पण सिद्धांत किसने दिया ?

एच. ई. हक्सले

मानव की करोटि में कितनी अस्थियां होती हैं ?

22 अस्थियां

फीमर का ऊपरी भाग किस संधि के माध्यम से जुड़ा होता है ?

कन्दुक खल्लिका संधि

मनुष्य में कितनी पसलियां होती हैं ?

12 जोड़ी

अस्थियों के मध्य जोड़ किस प्रकार के होते हैं ?

पेशीयुक्त, उपास्थियुक्त, साइनोवियल

पेशी की विशेषता क्या होती है ?

प्रत्यास्थता, उत्तेजनशीलता, संकुचनशीलता

जोड़ों का अध्ययन क्या कहलाता है ?

आर्थोलॉजी

अस्थियों में कौन कौन से तत्व होते हैं ?

कैल्सियम फास्फेट, सोडियम फास्फेट, पोटैशियम फास्फेट

बाइसेप्स (biceps) और ट्राइसेप्स (triceps) की पेशियाँ किससे संबंधित होती हैं ?

ह्यूमरस

मानव शरीर के कशेरुक दण्ड में कितनी कशेरुकाएं होती हैं ?

33 कशेरुकाएं

किन जीवों में सात ग्रीवा कशेरुकाएं पायी जाती हैं ?

मनुष्य, हाथी, जिराफ

मानव में मुक्त प्लावी पसलियाँ कितनी होती हैं ?

2 जोड़ी

मनुष्य व अन्य सभी स्तनियों में कितनी कापालिक तंत्रिकाएं होती हैं ?

12 जोड़ी

मनुष्य में कितनी मेरु तंत्रिकाएं होती हैं ?

31 जोड़ी

अनुमस्तिष्क का प्रमुख कार्य क्या होता है ?

शारीरिक गतिविधियों का समन्वय

प्रथम कापालिक तंत्रिका कौन सी है ?

Olfactory nerve

मस्तिष्क का कौनसा भाग शरीर की जैविक क्रियाओं का नियंत्रण करता है ?

मेडुला ऑब्लांगेटा

कॉर्पस कैलोसम मस्तिष्क के किस भाग में पाया जाता है ?

प्रमस्तिष्क में

रुधिर व मस्तिष्क के बीच उपापचयी पदार्थों का आदान प्रदान में सहायक होता है ?

सेरेब्रोस्पाइनल द्रव

डाइएनसिफैलॉन की अधर भित्ति को क्या कहते हैं ?

हाइपोथैलेमस

तंत्रिका तंत्र के किस भाग द्वारा प्रतिवर्ती क्रिया नियंत्रित होती है ?

मेरुरज्जु द्वारा

दृष्टिपटल का क्या कार्य होता है ?

दृष्टिपटल पर वस्तु का उल्टा प्रतिबिंब बनता है

कर्ण अस्थियों को निकाल देने से सुनने की प्रक्रिया पर क्या प्रभाव पड़ेगा ?

सुनाई देना बंद हो जाएगा।

युग्मानुबंध शब्द का प्रथम प्रयोग किसने किया ?

शेरिंगटन

रुधिर का कितना भाग हृदय से मस्तिष्क तक पहुँचता है ?

15-20 प्रतिशत

स्तनधारियों में पूर्ण अनुत्तेजन या रिफ्रेक्टरी काल कितना होता है ?

1/1000 सेकेंड

मध्य कर्ण का क्या कार्य है ?

ध्वनि तरंगों को बाह्य कर्ण से अन्तःकर्ण तक पहुँचाना।

स्वादग्राही किस प्रकार के संवेदी अंग हैं ?

रसायन संवेदी

मनुष्य में किस प्रकार की दृष्टि पायी जाती है ?

द्विनेत्री दृष्टि (binocular vision)

कौनसी कोशिकाएं हमें रंगों का ज्ञान कराती हैं ?

शंकु कोशिकाएं

आयु बढ़ने के साथ नेत्र लेंस के अपारदर्शी होने से कौनसा रोग होता है ?

मोतियाबिंद

मस्तिष्क के किस भाग के क्षतिग्रस्त होने से स्मरण शक्ति क्षीण हो जाती है ?

सेरीब्रम

मनुष्य में कितनी रीढ़ तंत्रिकाएं होती हैं ?

31 जोड़ी

मनुष्य के मस्तिष्क में ताप नियंत्रण केंद्र कहाँ स्थित होता है ?

हाइपोथैलेमस

नेत्रों की फोकस दूरी का नियमन किसके द्वारा होता है ?

सीलियरी काय

संतुलन में सहायक अंग क्या कहलाते हैं ?

ऑटोलिथ

बाह्य कर्ण किन जीवों में पाए जाते हैं ?

स्तनधारी जीव

कुछ प्राणियों ने नेत्र रात में चमकते हैं, इनमें उपस्थित चमकीली पर्त होती है ?

टैपीटम ल्यूसिडम

जन्तु विज्ञान (Zoology)

जन्तु विज्ञान (Zoology) :- संघ, वर्ग, कुल, सजीव, निर्जीव, जैव विविधता, वर्गीकरण, वर्गिकी, वायरस, द्विनाम पद्यति, मोनेरा, प्रोटिस्टा, कशेरुकी, अकशेरुकी, आनुवंशिकता, DNA, RNA, HIV, AIDS, जीन, ऊतक, कीट, मानव कार्यिकी, पाचन एवं अवशोषण, पाचन तंत्र, एन्जाइम्स, आहार नाल, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, वसा, पोषण, श्वसन, रुधिर की संरचना, रुधिर वर्ग, लसिका, परिसंचरण तंत्र, उत्सर्जी उत्पाद, परासरण, वृक्क के कार्य, डायलिसिस, न्यूऱन एवं तंत्रिकाएं, मानव तंत्रिका तंत्र, संवेदी अंग, अन्तःस्त्रावी ग्रंथियां, हाइपोथैलेमस, पीयूष ग्रंथि, थॉइराइड, एड्रीनल, अग्न्याशय, जनन तंत्र, वृषण व अण्डाशय, शुक्राणु, अण्डाणु, मासिक चक्र, निषेचन, परिवार नियोजन, गर्भ निरोध, वंशागति, जीन, क्रोमोसोम्स, गुणसूत्र, डाउन सिड्रोम, DNA फिंगर प्रिंटिंग, जीवन की उत्पत्ति, जैव विकास, चार्ल्स डार्विन, आनुवंशिक इंजीनियरिंग, इन्सुलिन, वैक्सीन, जैव सुरक्षा, पशुपालन, हॉटस्पॉट, संकटग्रस्त जीव, रेड डाटा बुक, जैव विविधता का संरक्षण, बायोस्फीयर रिजर्व।

विक्रतियां :- अस्थमा, अपच, कब्ज, पीलिया, उल्टी, हीमोफीलिया, वर्णान्धता.

जन्तु विज्ञान (Zoology) के अंतर्गत आने वाले शीर्षक :-

संघ –

विभिन्न संबंधित वर्गों के समूह को संघ (Phylum) कहा जाता है। जैसे उच्च संवर्ग कार्डेटा के अंतर्गत मत्स्य, पक्षी, सरीसृप,स्तनधारी व उभयचर आते हैं। इन सभी में कुछ न कुछ समान लक्षण पाए जाते हैं।

वर्ग –

अनेक संबंधित गणों के समूह को वर्ग की संज्ञा दी गई है। जैसे रोडेंशिया गण के अन्तर्गत कुतरने वाले जीवों को रखा गया है। गण सिटेसिया के अंतर्गत समुद्री स्तनधारी प्राणी आते हैं। गण काइरोप्टेरा उड़ने वाले स्तनधारियों का वर्ग है। गण कार्निवोरा के अंतर्गत शक्तिशाली मांसाहारी जीव आते हैं। बुद्धिमान स्तनधारियों के गण को प्राइमेट्स कहा जाता है। ये सभी गण स्तनी वर्ग के अंतर्गत आते हैं।

वंश –

संबंधित जातियों के संवर्ग को वंश कहा जाता है। जैसे- शेर, चीता, बाघ सभी अलग-अलग जातियां हैं। परंतु ये सभी एक ही वंश पैन्थेरा के हैं। अर्थात् शेर, बाघ, चीता के पूर्वज एक ही थे। उसी तरह कुत्ता, भेड़िया, स्यार सभी अलग जाति के हैं। परंतु इन सबका एक ही वंश है, इनके भी पूर्वज एक ही रहे होंगे।

सजीव जगत की विविधता

  • सजीव क्या है ?
  • जीवों में विविधता की संकल्पना

जीवधारियों का वर्गीकरण

  • वर्गीकरण की आवश्यकता क्यों पड़ी ?
  • जीवन के 5 जगत
  • जीवन के 5 जगतों के वर्गीकरण का आधार
  • वायरस एवं वायराइड्स

वर्गीकरण विज्ञान एवं द्विनाम पद्यति

  • वर्गीकरण एवं वर्गीकरण विज्ञान
  • जातियों की संकल्पना व वर्गिकीय क्रमबद्धता
  • जीवों के नामकरण की द्विनाम पद्यति
  • मोनेरा का वर्गीकरण
  • जगत प्रोटिस्टा
  • जन्तुओं के प्रमुख लक्षण व वर्गीकरण

जंतुओं का संरचनात्मक संगठन

  • जन्तु ऊतक
  • कीट का अध्ययन

पाचन एवं अवशोषण

  • मानव आहार नाल एवं पाचक ग्रंथियां
  • पाचक एन्जाइम्स एवं आहार नाल की श्लेष्मिका द्वारा स्त्रावित हार्मोन्स
  • क्रमाकुंचन
  • प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, वसा का पाचन, अवशोषण व कैलोरी महत्व
  • बहिःक्षेपण
  • पोषण एवं पाचनतंत्र की विकृतियां

सांस लेना एवं श्वसन

  • जन्तुओं में श्वसनांग
  • मानव का श्वसनतंत्र
  • मानव में सांस लेने की प्रक्रिया एंव इसका नियंत्रण
  • मानव में गैसों का आदान प्रदान, गैसों का परिवहन एवं श्वसन का नियंत्रण
  • श्वसनीय आयातन
  • श्वसन से संबंधित विकृतियां

परिसंचरण एवं देह तरल

  • रुधिर की संरचना, रुधिर वर्ग, रुधिर का जमना
  • लसिका की संरचना एवं कार्य
  • मानव परिसंचरण तंत्र
  • मनुष्य के हृदय की संरचना एवं रुधिर वाहिकाएं
  • दोहरा परिसंचरण
  • हृदय की गतिविधियों पर नियंत्रण
  • परिसंचरण तंत्र की विकृतियां

उत्सर्जी उत्पाद एवं निष्कासन

  • उत्सर्जन की विधियां
  • मानव उत्सर्जी तंत्र की संरचना और कार्य
  • मूत्र निर्माण, परासरण नियंत्रण
  • वृक्क के कार्य का नियंत्रण
  • उत्सर्जन में अन्य अंगों का महत्व
  • डायलिसिस एवं कृत्रि वृक्क

प्रचलन एवं गति

  • गति के प्रकार – पक्ष्माभि, कशाभि, पेशीय
  • कंकाल पेशी – संकुचनशील प्रोटीन एवं पेशी संकुचन
  • कंकाल तंत्र एवं इसके कार्य
  • संधियां
  • पेशी एवं कंकाल तंत्र की विकृतियाँ

तंत्रिकीय नियंत्रण एवं समन्वय

  • न्यूरॉन एवं तंत्रिकाएं
  • मानव का तंत्रिका तंत्र
  • केंद्रीय तंत्रिका तंत्र, परिधीय तंत्रिका तंत्र, विसरल तंत्रिका तंत्र।
  • तंत्रिकीय प्रेरणाओं का उत्पादन एवं संवहन।
  • प्रतिवर्ती क्रिया
  • संवेदी अंग
  • संवेदी अनुभव
  • आँख एवं कान की प्रारंभिक संरचना एवं अन्य संवेदी अंगों का सामान्य ज्ञान।

रासायनिक समन्वय एवं नियंत्रण

  • अन्तःस्त्रावी ग्रंथियाँ एवं हार्मोन्स।
  • मानव अन्तःस्त्रावी तंत्र – हाइपोथैलेमस, पीयूष, पीनियल, थाइरॉइड, पैराथाइराइड, एड्रीनल, अग्न्याशय, जनद।
  • हार्मोंस की क्रियाविधि।
  • दूतवाहक एवं नियंत्रक के रूप में हार्मोंस का कार्य।
  • अल्प एवं अतिक्रियाशील एवं संबंधित सामान्य रोग

मानव जनन

  • नर एव मादा जनन तंत्र।
  • वृषण एवं अण्डाशय की सूक्ष्मदर्शीय शरीर रचना।
  • युग्मकजनन – शक्राणुजनन एवं अण्डजनन।
  • मासिक चक्र।
  • निषेचन, अन्तर्रोपण, भ्रूणीय परिवर्धन
  • सगर्भता एवं प्लैसेंटा निर्माण
  • प्रसव एंव दुग्ध स्त्रवण

जनन स्वास्थ्य

  • आवश्यकता व यौन संचरित रोगों की रोकथाम।
  • परिवार नियोजन – आवश्यकता एवं विधियां।
  • गर्भ निरोध एवं चिकित्सकीय सगर्भता समापन।
  • Amniocentesis
  • बन्ध्यता एवं सहायक जनन प्रौद्योगिकियाँ।

आनुवांशिकी व विकास

  • वंशागति व विभिन्नताएं।
  • मेण्डेलीय वंशागति।
  • मेण्डेलीय अनुपात से विचलन।
  • बहुजीनी वंशागति का प्रारंभिक ज्ञान।
  • वंशागति का क्रोमोसोमवाद।
  • क्रोमोसोम्स व जीन।

लिंग निर्धारण

  • मनुष्य, पक्षी व मधुमक्खी।

सहलग्नता और जीन विनिमय

  • लिंग – सहलग्न वंशागित – हीमोफीलिया, वर्णांधता।

मनुष्य में मेन्डेलियन व्यतिक्रम

  • मनुष्य में गुणसूत्रीय व्यतिक्रम
  • डाउल सिड्रोम, टर्नर व क्लाइनफैल्टर सिन्ड्रोम

आनुवांशिक पदार्थ के लिए खोज एवं DNA एक आनुवांशिकी पदार्थ

  • DNA व RNA की संरचना।
  • DNA पैकेजिंग।
  • अनुलेखन
  • आनुवंशिक कोड
  • अनुरूपण
  • जीन अभिव्यक्ति एवं नियमन
  • जीनोम और मानव जीनोम प्रोजेक्ट
  • DNA फिंगर प्रिंटिंग
  • विकास
  • जीवन की उत्पत्ति
  • जैव विकास एवं विकास के प्रमाण
  • चार्ल्स डार्विन का योगदान, विकास का आधुनिक संश्लेषणात्मक सिद्धांत
  • डार्डी-वीनबर्ग सिद्धांत
  • विकास की क्रियाविधि
  • जीन प्रवाह एवं आनुवंशिक अपवाह
  • अनुकूली विकिरण
  • मानव विकास।

जैव प्रौद्योगिकी :- सिद्धांत एवं अनुप्रयोग

  • आनुवंशिक इंजीनियरिंग
  • जैव प्रौद्योगिकी का स्वास्थ्य के क्षेत्र में अनुप्रयोग
  • मानव इंसुलिन और वैक्सीन उत्पादन, जीव चिकित्सा।
  • जैव सुरक्षा समस्याएं
  • बायोपाइरेसी एवं पेटेंट

जीव विज्ञान एवं मानव कल्याण

  • स्वास्थ्य एवं रोग।
  • प्रतिरक्षा विज्ञान की मूलभूत संकल्पनाएं – टीके।
  • रोगजनक, मानव में रोग उत्पन्न करने वाले परजीवी।
  • कैंसर, HIV, और एड्स।
  • यौनावस्था – नशीले पदार्थ और ऐल्कोहॉल का अतिप्रयोग।

मानव कल्याण में सूक्ष्म जीव

  • घरेलू खाद्य उत्पादों में
  • औद्योगिक उत्पाद
  • वाहितम उपचार
  • ऊर्जा उत्पादन
  • जैव नियंत्रण कारक एवं जैव उर्वरक

जैव विविधता एवं संरक्षण

  • खतरे एवं जैव विविधता संरक्षण की आवश्यकता
  • हॉट स्पॉट, संकटग्रस्थ जीव, विलुप्ति, रैड डाटा बुक
  • जैव विविधता का संरक्षण – बायोस्फीयर रिजर्व, नेशनल पार्क एवं सैंचुरीज।

प्राणी जगत के विभिन्न संघों के मूलभूत लक्षण

संघसंगठन का स्तरसममितिसीलोमखण्डी भवनपाचनतंत्रपरिसंचरणशवसनतंत्रविशिष्ट लक्षण
कार्डेटाअंगतंत्रद्विपार्श्वप्रगुहीयउपस्थितपूर्णउपस्थितउपस्थितपृष्ठ रज्जु, खोखली पृष्ठ तंत्रिका रज्जु, क्लोम दरारें, पाद अथवा पख।
आर्थ्रोपोडाअंगतंत्रद्विपार्श्वप्रगुहीयउपस्थितपूर्णउपस्थितउपस्थितकाइटिन, खण्डों से बना बाह्य कंकाल, संधियुक्त उपांग, खुला रक्त परिसंचरण।
मोलस्काअंगतंत्रद्विपार्श्वप्रगुहीयअनुपस्थितपूर्णउपस्थितउपस्थितचलन मांसल पाद द्वारा, श्वसन क्लोमों द्वारा।
पोरीफेराकोशिकीयविभिन्न प्रकार कीअनुपस्थितअनुपस्थितअनुपस्थितअनुपस्थितअनुपस्थितदेहभित्ति छिद्रयुक्त,
द्विस्तरीय नालतंत्र,
कीप कोशिकाएं उपस्थित।
सीलेन्ट्रेटाऊतकअरीयअनुपस्थितअनुपस्थितअपूर्णअनुपस्थितअनुपस्थितस्पर्शक, दंश कोशिकाएं, सीलेन्ट्रेटॉन उपस्थित।
टीनीफोराऊतकअरीयअनुपस्थितअनुपस्थितअपूर्णअनुपस्थितअनुपस्थितचलन कंकत पट्टिकाओं द्वारा।
प्लेटीहेल्मिन्थीजअंग तथा अंगतंत्रद्विपार्श्वअनुपस्थितअनुपस्थितअपूर्णअनुपस्थितअनुपस्थितचपटे परजीवी कृमि,
चूषक उपस्थित,
द्विलिंगी।
ऐस्केल्मिन्थीजअंगतंत्रद्विपार्श्वकूट प्रगुहीयअनुपस्थितपूर्णअनुपस्थितअनुपस्थितकृमि रूप, लम्बे एवं बेलनाकार प्रायः परजीवी, एकलिंगी।
ऐनेलिडाअंगतंत्रद्विपार्श्वप्रगुहीयउपस्थितपूर्ण उपस्थितउपस्थितशरीर मेटामेरिक समखण्डों में बँटा हुआ,
प्रचलन सीटी, चूषक या पार्श्वपाद द्वारा।
इकाइनोडर्मेंटाअंगतंत्रअरीयप्रगुहीयअनुपस्थितपूर्णउपस्थितउपस्थितचलन नालपादों द्वारा, जल संवहन तंत्र उपस्थित।
हेमीकार्डेटाअंगतंत्रद्विपार्श्वप्रगुहीयअनुपस्थितपूर्णउपस्थितउपस्थितकृमिरूप, शुंड, कॉलर तथा धड़ उपस्थित, ग्रसनीय क्लोम दरारें तथा पृष्ठ नालाकार तंत्रिका रज्जु उपस्थित।

वर्गिकी तथा जंतु जगत का वर्गीकरण

समस्त जीवों को अरस्तू द्वारा दो समूहों ‘जन्तु समूह’ व ‘वनस्पति समूह’ में विभाजित किया गया है। ‘कैरोलस लीनियस‘ ने अपनी पुस्तक ‘Systema Naturae’ में जीवों को दो जगतों ‘पादप जगत’ व ‘जन्तु जगत’ में विभाजित किया। लीनियस द्वारा शुरु की गई वर्गिकी की प्रणाली से ही आधुनिक वर्गीकरण की नींव पड़ी। इसी कारण लीनियस को आधुनिक वर्गीकरण का पिता कहा जाता है। वर्गीकरण की आधारभूत इकाई जाति (Species) है।

जीवों का वर्गीकरण –

जीवों के परम्परागत द्विजगत वर्गीकरण के स्थान पर ह्विटकर की 1969 ई. में दी गई 5 जगत प्रणाली आ गई। इसके अनुसार जीवों को पांच जगतों में विभाजित किया गया –

  • मोनेरा जगत (Monera)
  • प्रोटिस्टा जगत (Protista)
  • पादप जगत (Plantae)
  • कवक (Fungi)
  • जन्तु (Animal)

मोनेरा जगत

इसके अंतर्गत सभी प्रोकैरियोटिक कोशिका वाले जीव (सायनोबैक्टीरिया, जीवाणु, आर्की बैक्टीरिया) आते हैं।

ये सूक्ष्मदर्शी सामान्यतः एककोशिकीय संरचना वाले जीव होते हैं।

कुछ सदस्य बहुकोशिकीय होते हैं।

तन्तुमय जीवाणु भी इसी जगत के अंतर्गत आते हैं।

ये सामान्यतः अपघटक होते हैं। ये मृत कार्बनिक पदार्थों का अपघटन करके उनको सरल पोषक तत्वों में विघटित करते हैं। इसमें पदार्थों का पुनःचक्रीकरण होता है।

कोशिका के चारो ओर कोशिका भित्ति पायी जाती है।

इनमें संगठित केंद्रक का अभाव होता है। अर्थात इनमें केन्द्रक कला तथा केंद्रिका नहीं पायी जाती।

ये मुख्यतः परपोषी (परजीवी या मृतजीवी होते हैं)।

कुछ सदस्य स्वपोषी भी होते हैं, जो कि प्रकाश संश्लेषी या रसायन संश्लेषी होते हैं।

जीवाणु (Bacteria) –

बैक्टीरिया सर्वव्यापी होते हैं। ये समुद्र, मरुस्थल, बर्फ, गर्म जल के स्त्रोतों व विभिन्न प्रतिकूल वासस्थलों पर पाए जाते हैं। कुछ जीवाणु जैसे – गोलाणु, दण्डाणु, स्पाइरिलाई, पेरीट्रकाइकस, स्ट्रेप्टोबेसिलस परजीवी होते हैं। जीवाणुओं के कारण खाद्य विषाक्तता, विनाइट्रीकरण, मानव रोग, पादप रोग भी होते हैं।

ये अत्यंत सरल संरचना वाले प्रोकैरियोटिक एककोशिकीय जीव हैं।

ये सर्वव्यापी होते हैं और जल, थल व वायु हर जगह पाये जाते हैं।

बैक्टीरिया प्रायः परपोषी होते हैं। ये परजीवी, सहजीवी, व मृतजीवी होते हैं।

कुछ जीवाणु स्वपोषी होते हैं। इनमें कुछ प्रकाश संश्लेषी या प्रकाश संश्लेषी होते हैं। प्रकाश संश्लेषी बैक्टीरिया में बैक्टीरियोक्लोरोफिल वर्णक पाया जाता है।

कोशिका भित्ति म्यूकोपेप्टाइड से बनी होती है। इसमें सेलुलोज नहीं पाया जाता।

बहुत से जीवाणु जीवन की बहुत विषम परिस्थिति में भी जीवित रहते हैं।

संगठित केंद्रक का अभाव होता है। केन्द्रक कला व केंद्रिका का अभाव होता है।

कोशिका द्रव्य में DNA अणु पड़ा रहता है।

माइटोकाण्ड्रिया, अन्तःप्रद्रव्यी जालिका, गॉल्जीकाय, हरितलवक जैसे कोशिकांगों का अभाव होता है। माइटोकाण्ड्रिया का कार्य मीसोसोम्स करता है।

राइबोसोम्स 70S प्रकार के होते हैं।

इनमेंलैंगिक जनन आनुवंशिक पुनर्योजन द्वारा होता है।

परजीवी जीवाणुओं के कारण होने वाले मानव रोग –

मानवों में परजीवी जीवाणुओं के कारण अनेक रोग होते हैं। जैसे – हैजा, प्लेग, टिटनेस, क्षयरोग, कुष्ठरोग, सिफलिस, टाइफऑइड इत्यादि।

आकृति के आधार पर बैक्टीरिया कितने प्रकार के होते हैं ?

आकृति के आधार पर बैक्टीरिया 5 प्रकार के होते हैं –

  • गोलाणु (Cocci) – ये गोलाकार व सबसे छोटे जीवाणु हैं। इसमें माइक्रोकोकाई, डिप्लोकोकाई, स्ट्रैप्टोकोकाई, टेट्राकोकाई, स्टैफाइलोकोकाई व सार्सीनी प्रकार के बैक्टीरिया आते हैं।
  • दण्डाणु (Bacillus) – ये शलाका के समान होते हैं।
  • कोमा बैक्टीरिया (Comma Bacteria) – कौमा (,) की आकृति के होने के कारण इन्हें ये नाम दिया गया। जैसे विब्रियो कोलेरी।
  • सर्पिलाकृति (Spirilli) – ये लम्बे तथा सर्पिलाकार जीवाणु होते हैं। जैसे – स्पाइरिलम वाल्यूटेंस।
  • एक्टिनोमाइसिटीज (Actinomycetes) – ये सूत्राकर व शाखामय होते हैं। जैसे – स्ट्रैप्टोमाइसीज।

सायनोबैक्टीरिया –

ये नीले हरे शैवाल (ब्लू ग्रील एल्गी) हैं। इनमें क्लोरोफिल-ए पाया जाता है। ये एककोशिकीय, स्वपोषी, तंतुरूपी अथवा क्लोनीय, जलीय अथवा स्थलीय शैवाल हैं।

आद्य बैक्टीरिया (Archae Bacteria) –

ये बैक्टीरिया अत्यंत विषम परिस्थिति में पाए जाते हैं। मेथेनोजक बहुत से रूमिनेंट जानवरों की आंतों में पाए जाते हैं। ये गोबर से मेथेन (बायोगेस) का निर्माण करते हैं।

प्रोटिस्टा जगत

प्रोटिस्टा जगत के अंतर्गत विविध प्रकार के एककोषिकीय, प्रायः जलीय यूकैरियोटिक जीव शामिल किये गए हैं। येग्लीना (पादप व जंतु के बीच की कड़ी) इसी के अंतर्गत आता है। यह दो तरह की जीवन पद्यति प्रदर्शित करता है। सूर्य के प्रकाश में स्वपोषित की भांति और इसके अभाव में इतर पोषी की। इसके अंतर्गत साधारणतः प्रोटोजोआ आते हैं।

पादप जगत

सभी रंगीन, बहुकोशिकीय, प्रकाश-संश्लेषी उत्पादक जीव इस जगत के अंतर्गत आते हैं। मॉस, शैवाल, पुष्पीय व अपुष्पीय बीजीय पौधों को इस जगत के अंतर्गत रखा गया है।

कवक

वे यूकैरियोटिक तथा परपोषित जीव, जिनमें अवशोषण द्वारा पोषण होता है। इस जगत के अंतर्गत रखे गए हैं। वे सभी इतरपोषी होते हैं। ये परजीवी या मृतोपजीवी होते हैं। इसकी कोशिका भित्ति काइटिन नामक जटिल शर्करा से निर्मित होती है।

जन्तु जगत

सभी बहुकोशिकीय जन्तुसमभोजी यूकैरियोटिक, उपभोक्ता जीवों को इस जगत के अंतर्गत रखा गया है। इन्हें मेटाजोआ भी कहा जाता है। हाइड्रा, जेलीफिश, स्टारफिश, उभयचर, सरीसृप, कृमि, पक्षी व स्तनधारी जीव इसी जगत के अंतर्गत आते हैं।

जीवों के नामकरण की द्विनाम पद्यति –

साल 1753 ई. में कैरोलस लीनियस (वर्गिकी के पिता) ने जीवों के नामकरण की द्विनाम पद्यति को प्रचलित किया। इस पद्यति के अनुसार हर जीवधारी का नाम लैटिन भाषा के दो शब्दों से मिलकर बना होता है। पहला शब्द उसके वंश के नाम का होता है। दूसरा शब्द उसकी जाति के नाम का होता है। वंश व जाति के नाम के बाद उस वर्गिकीविद् (वैज्ञानिक) का नाम लिखा जाता है। जिसने सबसे पहले उस जीव को खोजा या नाम दिया।

error: Content is protected !!