यूजीसी नेट इतिहास पेपर UGC NET HISTORY PAPER

यूजीसी नेट इतिहास पेपर UGC NET HISTORY PAPER :- इस लेख में यूजीसी नेट परीक्षा के इतिहास के पेपर के प्रश्नों का संग्रह दिया गया है। विगत वर्षों में यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन की नेट की परीक्षा के इतिहास के पेपर में आये हुए प्रश्नों को तथ्यात्मक रूप में संग्रहीत किया गया है।

भारतीय इतिहास को विस्तृत रूप से पढ़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें

♠ जावा में किस देवता का सर्वोच्च स्थान रहा है ?

शिव

♠ निम्नलिखित में से वे मुगल सम्राट जो वेदांत दर्शन से प्रभावित थे और जगत् गुरु गोसाईं से मिलने गए थे –

बाबर

अकबर

जहांगीर

शाहजहां

उत्तर – अकबर और जहांगीर

हरिरुद, कुभा, क्रुंभसुल्तान अलाउद्दीन खिलजी के बारे में सही कथन है –

उसे मालूम था कि नमाज (प्रार्थना) कैसे पढ़ी जाए

लेकिन उसने कभी भी रोजा (उपवास) नहीं रखा

उसने नशीले पेयों को निषिद्ध किया

♠ किस इतिहास दर्शनशास्त्री ने कहा था, ”समस्त इतिहास समकालीन इतिहास है” ?

उत्तर – बेनिडिटो क्रोचे

♠ शाहजहांकालीन चित्रकार थे

मुहम्मद नादिर समरकंदी, मीर हाशिम

♥ इतिहास लेखन की बाह्य आलोचना (स्वतः शोध एवं अनुभवजन्य संक्रिया) का सही प्राकार्य है –

प्रलेख के लेखक का पता लगाना

प्रलेख का स्थान निर्धारण, प्रलेख का काल निर्धारण

लेखन की वास्तव तिथि

मास और वर्ष का पता लगाना

♠ स्टार ऑफ इंडिया, यूरोपियनों द्वारा भारतीयों दोनो के लिए नाइटहुड की एक गैर-आनुवांशिक उपाधि, प्रदान करना शुरु हुआ।

1861 ई. में।

अभिकथन (A) : अजंता के प्राचीनतम चित्रों का काल द्वितीय और प्रथम शताब्दी ईसा पूर्व माना जाता है। 

तर्क (R) : कालक्रमानुसार गुहा सं. 1 और 2 के चित्र सबसे बाद के एवं गुप्तोत्तर काल के हैं।

उत्तर – (A) और (R) दोनो सही हैं तथा (A) की सही व्याख्या (R) नहीं है।

♠ निम्नलिखित में से किस स्थल पर मानव जीवाश्म पुरापाषाणकालीन औजारों के साथ स्वस्थानें मानव पाए गए हैं ?

डीडवाना

हथनोरा

आदमगढ़

बाघोर

उत्तर – हथनोरा

♠ ‘संभवतः शकों द्वारा उनके राजनीतिक प्रभुत्व हेतु अपनाया गया सांस्कृतिक नवाचार ही था कि एक नए युग का नाम उनके नाम पर रख गया।’ शेल्डन पोलॉक के अनुसार यह ‘सांस्कृतिक नवाचार’ क्या था ?

उत्तर – राजनीतिक प्रयोजनों हेतु संस्कृत का प्रयोग

♠ प्रसिद्ध सिंधु नदी की हरिरुद, कुभा, क्रुंभ एवं वितस्ता में से कौनसी सहायक नदियां अफगानिस्तान में अवस्थित थीं ?

उत्तर – हरिरुद, कुभा, क्रुंभ

♠ जैन ग्रंथ भगवती सूत्र के अनुसार काशी और कोसल के कितने गणराज्य पूर्वी भारत के शक्तिशाली महासंघ के अंग थे, जिन्होंने मगध के राजा अजातशत्रु का विरोध किया था ?

उत्तर – 18

♠ भारत पर पाश्चात्य विचारों के प्रभाव के संदर्भ में सही कथन हैं –

इसने तर्कवाद की भावना को जागृत किया जिसके कारण हठधर्मी सिद्धांत की निरंकुशता और परंपरागत सत्ताओं, विश्वासों व प्रथाओं के खिलाफ मानसिक विद्रोह हुआ।

अंग्रेजी शिक्षा ने पाश्चात्य विचारों के असीम द्वार खोल दिये जिन्होंने प्रारंभ में उन्हें अभीभूत कर दिया था।

♠ इलाहाबाद स्तंभ लेख में उल्लिखित समुद्रगुप्त द्वारा विजित दक्षिणापथ के राज्यों का क्रम है-

पिष्टपुर – कांची – वेंगी – देवराष्ट्र

♠ घटनाओं का व्यवस्थित कालक्रम है –

पर्सीपोलिस का दहन

सिकंदर द्वारा हिंदुकुश के पार पूर्वी ईरान पर विजय

सिकन्दर का भारत से बापस जाना

सिकंदर के साम्राज्य का त्रिपैरेदिसस में विभाजन

UGC NET HISTORY PAPER

♠ अमीर खुसरो द्वारा रचिन कृतियां कौन-कौन सी हैं ?

नूह सिपिहर

हश्त बिहिश्त

मतला उल अनवर

खजायन उल फुतुह

उत्तर – सभी

♠ भारत में ज्ञान विशालतम मध्यपाषाण क्षेत्र कौनसा है ?

उत्तर – बागोर

♠ सुमेलित कीजिए –

सूची-1 (शब्द)         सूची-2 (अर्थ)

ट्रैबियेट         टाइल मोजैक

बारादरी        एक स्तंभ और लिन्टर पर आधारित संरचना सिद्धांत

ऐवान             एक स्तंभयुक्त वीथी (गैलरी)

काशी कारी       एक स्तंभ और लिंटर पर आधारित संरचना सिद्धांत

उत्तर –

काशी कारी         टाइल मोजैक

बारादरी              एक स्तंभ और लिन्टर पर आधारित संरचना सिद्धांत

ऐवान                  एक स्तंभयुक्त वीथी (गैलरी)

ट्रैबियेट               एक स्तंभ और लिंटर पर आधारित संरचना सिद्धांत

♠ आरंभिक 13वीं शताब्दी में बिहार और बंगाल को मिलाकर एक स्वायत्त राज्य की स्थापना की थी ?

उत्तर – मुहम्मद बख्तियार खिलजी

♠ सुमेलित कीजिए –

ए. एल. बाशम         अर्बन डिके इन इंडिया

डी. डी. कौशाम्बी    द वंडर दैट वाज इंडिया

जोना विलियम        द आर्ट ऑफ गुप्ता इंडिया : एंपायर एंड प्रोविंस

आर. एस. शर्मा       मिथ एंड रियलिटी स्टडीज इन द फार्मेशन ऑफ इंडियन कल्चर

उत्तर –

आर. एस. शर्मा          अर्बन डिके इन इंडिया

ए. एल. वाशम            द वंडर दैट वाज इंडिया

जोना विलियम            द आर्ट ऑफ गुप्ता इंडिया : एंपायर एंड प्रोविंस

डी. डी. कौशाम्बी       मिथ एंड रियलिटी स्टडीज इन द फार्मेशन ऑफ इंडियन कल्चर

♠ फिरदौस मकानी (बाबर) के संस्मरणों को तुर्की से फारसी में अनुदित कर किसने अकबर के समक्ष प्रस्तुत किया और अत्यधिक प्रशंसा बटोरी ?

उत्तर – अब्दुर्रहीम खान खाना

♠ अंग्रेजों द्वारा पारित सामाजिक विधान कालक्रमानुसार व्यवस्थित हैं –

विनियमन-III (रेगुलेशन-III), जिसके तहत शिशु वध को एक हत्या घोषित किया – (1804 ई.)

विनियमन-XVII (रेगुलेशन-XVII), जिसके द्वारा बंगाल प्रेसिडेंसी में सती प्रथा को अवैध घोषित किया गया – (1829 ई.)

अधिनियम-V (एक्ट-V), जिसके द्वारा भारत में दास-प्रथा को अवैध घोषित किया गया (1843 ई,)

हिंदू विधवा पुनर्विवाह अधिनियम-XV (हिंदू विडोज रीमैरिज एक्ट-XV) – (1856 ई.)

♠ फरमान जारी किया जा सकता था

उत्तर – राजाओं द्वारा

♠ सुमेलित कीजिए –

सूची-1 (नाटककार)                  सूची-2 (नाटक)

गिरीश कर्नाड़            अंधायुग

धर्मवीर भारती           आगरा बाजार

हबीब तनवीर             घासीराम कोतवाल

विजय तेंदुलकर          हयवदन

उत्तर –

विजय तेंदुलकर – घासीराम कोतवाल

धर्मवीर भारती – अंधायुग

हबीब तनवीर – आगरा बाजार

गिरीश कर्नाड़ – हयवदन

UGC NET HISTORY PAPER

♠ निम्नलिखित सत्याग्रहों में से किस से महात्मा गाँधी संबंधित नहीं हैं ?

खेड़ा सत्याग्रह

रॉलेट बिल के विरुद्ध सत्याग्रह

महाद मीठा जलाशय सत्याग्रह

वायकोम सत्याग्र

उत्तर – महाद मीठा जलाशय सत्याग्रह

♠ ”मैं चाहता हूं कि अलग-अलग रेजिमेंटों में भिन्न और प्रतिस्पर्धी  भावना रहे, ताकि आवश्यकता पड़ने पर सिख, हिन्दू पर और गोरखा उन दोनों पर बिचना हिचक के गोली दाग सके।” यह कथन किसका है ?

♠ अशोक के प्रस्तर स्तंभों पर यूनानी शासकों का किस क्रम में उल्लेख हुआ है ?

उत्तर – एंटिओकस – टालेमी – एंटिगोनस – सिकंदर

उत्तर – चार्ल्स वुड

♠ प्रांसीसी यात्री जीन-बपिटस्ट टैवर्नियर ने गोलकोंडा की राजधानी नगर को क्या नाम दिया ?

उत्तर – भागनगर

♠ ईश्वरचंद विद्यासागर के बारे में सही कथन है –

उन्होंने मानव समानता पर आधारित सामाजिक सुधार के लिए कार्य किया

सामाजिक सुधार व बौद्धिक जागरण के लिए उनके प्रयासों का मूलभूत सिद्धांत मानवता थी

उन्होंने आधुनिक वैज्ञानिक देशज शिक्षा के प्रसार के लिए अथक प्रयास किये

♥ वह सुल्तान जिसने काजी की सलाह पर शरियत को कार्यान्वित करने से इनकार कर दिया था –

अलाउद्दीन खिलजी

♠ सही समुलित हैं –

सूची-1 (स्थान)         सूची-2 (काल)

किली गुल मुहम्मद         4555-3885 ई. पू.

डम्ब सादथ              3370 – 2530 ई. पू.

कालीबंगा                2980 – 1865 ई. पू.

राना गुंडाई              4550-3165 ई. पू.

♠ भारत में यात्रियों के आगमन का सही कालक्रम –

अलबरूनी (11वीं शताब्दी)

इब्नबतूता (14वीं शताब्दी)

सिदी अली रईस (16वीं शताब्दी)

विलियम फिंच (17वीं शताब्दी)

♠ सिक्खों द्वारा मुफ्त रसोई (लंगर) की अवधारणा कहाँ से अपनाई गई थी ?

उत्तर -सूफी दरगाहों से

♠ निम्न में से किस पुरापाषाणकालीन स्थल पर एश्यूलियन औजारों के साथ पशु पाद-चिह्न के एक समुच्चय का साक्ष्य मिला है ?

इसे भी पढ़ें  कांग्रेस के अधिवेशन

अत्तिरमपक्कम

भीमबेटका

हुन्सगी

पलेरु

उत्तर- अत्तिरमपक्कम

♠ कौनसा सुल्तान पहले अली गुरशास्प के नाम से जाना जाता था ?

उत्तर – अलाउद्दीन खिलजी

♠ भारत और उज्बेकिस्तान के दो बादशाहों के नाम बताइये जो हिंदू-कोह या हिंदू कुश को दोनों साम्राज्यों की सीमा तय करने पर सहमत हुए।

उत्तर – अकबर और अब्दुल्ला खां उज्बेक

♠ उन्नीसवीं सदी में सामाजिक परिवर्तन के बारे में कथन है ”सामाजिक मुक्ति की दिशा में हुई समस्त प्रगति अवस्था विधि से अनुबंध विधि में और परिवार और जाति व्यवस्था के नियंत्रणों से व्यक्ति की स्वेच्छा जनित स्व-आरोपित नियंत्रणों में परिवर्तन का सूचक है।”

उत्तर – महादेव गोविंद रानाडे

♠ चालुक्य राजा पुलकेशिन द्वितीय के ऐहोल अभिलेख में इसके रचयिता रविकीर्ति ने अपने आप का किसके समान वर्णन किया है ?

उत्तर – भारवि एवं कालिदास

♠ एक इतहासकार द्वारा बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में सही कथन कौन कौन-से हैं ?

लेखक की प्रत्यक्ष जांच से प्राप्त तथ्यों को तर्कना से प्राप्त नतीजा के साथ भ्रमित नहीं किया जाना चाहिए।

इतिहासकार को अविद्यमान का अन्वेषण नहीं करना चाहिए।

उसे पाठ में वह प्रवर्तित नहीं करना चाहिए जो लेखक द्वारा नहीं कहा गया है।

औपनिवेशिक भारत में विज्ञान के संवर्धन के बारे में सही कथन है –

औपनिवेशिक विज्ञान उपनिवेशवाद के ताने बाने के साथ जटिल रूप से बुना हुआ था।

उन्नीसवीं सदी में भारतीय विज्ञान शिक्षा यूरोप केंद्रित, केंद्राभिसारी व प्रभुत्ववादी थी।

महेंद्रलाल सरकार के लिए राजनीतिक राष्ट्रवाद का विज्ञान और उसकी मार्गदर्शक प्रवृत्ति के बिना कोई अर्थ नहीं था।

♠ बनारसीदास ने 1641 ई में किस भाषा में एक अति रोचक आत्मकथा अर्द्ध-कथानक लिखी थी ?

उत्तर – ब्रज

♠ क्लासिकल संस्कृत भाषा के दिल्ली स्थित दीर्घ पालम बावली अभिलेख, में स्वभावतः दावा किया गया है कि राजा के ‘सुशासन’ के कारण भगवान विष्णु ‘समस्त चिंताओं को त्याग कर क्षीरसागर में शांतिपूर्वक शयनरत हैं।’ यह किस राजा के बारे में दावा किया गया है ?

उत्तर – गयासुद्दीन बलबन

♠ निम्नलिखित में से कौनसे करमुक्त व्यापार सुविधाएं प्रदान करने और करों में कमी किये जाने की श्रेणी में आते हैं ?

उत्तर – राहदारी, मापा, व साइरदाम

राहदारी

मापा

साइर-दाम

मुकाता

UGC NET HISTORY PAPER

♠ सुमेलित कीजिए – 

सूची-1 (हड़प्पन शवाधान व्यवस्था)                   सूची-2 (स्थल)

कलश-शवाधान             हड़प्पा

ताबूत-शवाधान                मोहनजोदड़ो

संयुक्त-शवाधान               सनौली

विस्तरित-शवाधान          लोथल

उत्तर –

ताबूत-शवाधान             हड़प्पा

कलश-शवाधान            मोहनजोदड़ो

संयुक्त शवाधान              लोथल

विस्तरित-शवाधान         सनौली

♠ धर्मशास्त्र रचनाओं के संबंध में सही कथन है –

इनमें देश-धर्म और कुल-धर्म का संदर्भ है

इन-मे जोर दिया जाता है कि प्रत्येग व्यक्ति अपने वर्ण के धर्म का पालन करें।

इनमें चार वर्णों और सामाजिक जीवन के मानदंडों का संदर्भ है।

♠ 600-1200 ई. के बीच की अवधि के दौरान क्षेत्रीय संघटनों के उदय के लिए क्या प्रासांगिक है ?

उत्तर – देशी भाषाओं का विकास, कला और स्थापत्यकला की विशिष्ट क्षेत्रीय शैलियों का उदय

♠ भारत में निम्नलिखित में से किस उत्पाद की शुरुवात पुर्तगालियों द्वारा नहीं की गई थई ?

काजू

पान

अनन्नास

तम्बाकू

उत्तर – पान

अभिकथन (A) : नादर शाह का दिल्ली पर कब्जा और उसकी जनता के कत्लेआम ने लोगों को 340 वर्ष पहले तैमूर के हाथो इसी प्रकार की विपदा की याद दिलाई।

तर्क (R) : दूसरी ओर, नादिर शाह ने सिंधु पार के प्रांतों और पूरे अफगानिस्तान को नहीं हड़पा था।

उत्तर – (A) सही है (R) गलत है।

♠ बल्ख व बदख्शां पर मुगल सैन्य अभियान के संबंध में सही कथन कौनसा है ?

उत्तर – मुगल सम्राटों की उद्घोषित इच्छा थी कि ये अपनी मैतृक भूमि को पुनः प्राप्त करें, शाहजहां, बल्ख व बदख्शां के शासक नजर मुहम्मद को दंड देने चाहता था, जिसकी काबुल पर निगाहें थीं।

♠  भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना कोई भारतीय नहीं कर सकता था……….यदि किसी भारतीय ने ऐसा कोई अखिल भारतीय आंदोलन शुरु किया होता तो भारत के अधिकारियों ने आंदोलन के अस्तित्व में ही नहीं आने दिया होता। उन दिनों राजनीतिक आंदोलनों को लेकर इतना अविश्वास था कि यदि कांग्रेस के संस्थापक एक अंग्रेज नहीं हुए होते तो प्राधिकारियों ने आंदोलन को कुचलने का तत्काल कोई रास्ता ढूंढ लिया होता।” ये किसका कथन है ?

उत्तर – गोपाल कृष्ण गोखले

♠ किस सम्राट के शासनकाल के अंतिम वर्षों में वतन जागीर की अवधारणा अस्तित्व में आयी थी ?

उत्तर – अकबर

♠ किसके यात्रा वृतांत में भारतीय जनता की भौतिक अवस्था का वर्णन किया गया है ? : “आम जनता इतनी भीषण गरीबी में जीवन यापन करती थी कि उसके जीवन को सिर्फ अपार वंचना और घोर दुख के निवास स्थल के रुप में चित्रित अथवा सही ढंग से वर्णित किया जा सकता है।”

उत्तर – फ्रांसिस्को पेलसार्ट् का ‘रेमान्सट्रैंन्टाई’

♠ अभिकथन (A) : ऐसा माना जाता है कि अजातशत्रु ने 493 ई. पू. अपने पिता की हत्या की। इसने कोसल को अपने राज्य में मिला लिया, जब्कि वहाँ का शासक उसका मामा था।

कारण (R) : मगध के बिंबिसार का पुत्र अजातशत्रु मगध का शासक बनने के लिए आतुर था और उसने अन्य क्षेत्रों को अपने राज्य में मिलाया।

उत्तर – (A) और (R) दोनों सही हैं और (A) की सही व्याख्या (R) है।

आधुनिक संगीत के विषय में सही है –

एक नए शहरी पश्चिमी शिक्षा प्राप्त वर्ग का उदय जिसने शास्त्रीय संगीत को दरबारों और मंदिरों से निकालकर धर्म निरपेक्ष बनाने की कोशिश की जो एक सांस्कृतिक परिवेश का द्योतक था।

उन्नीसवीं सदी में दरबारी संरक्षण में कमी।

नए सांस्कृतिक परिवेश ने शास्त्रीय संगीत की संरचना और रूप में मौलिक बदलाव किये

एक समुदाय के रूप में राष्ट्र के उभार में भारतीय शास्त्रीय संगीत को उपयुक्त तरीके से परिभाषित, पुनर्गठित, पोषित और उपभोगित किया

♠ बार-बार आने वाली बाढ़ के कारण कौनसा हड़प्पीय नगर नष्ट हो गया था ?

उत्तर – मोहनजोदड़ों

♠ सही कथन हैं –

इब्नबतूता भारत में उत्पादित आम का बढ़ा-चढ़ाकर वर्णन करता है।

बह गुठली बोकर उसके उत्पादन का उल्लेख करता है।

UGC NET HISTORY PAPER

♠ थियोसोफिकल सोसाइटी के मुख्य उद्देश्य क्या थे ?

मानवता के लिए विश्वबंधुत्व की भावना का निर्माण

प्रकृति के नियमों का अन्वेषण और मनुष्य में छुपी दैवी शक्तियों का विकास करना

प्राचीन धर्मों, दर्शनों और विज्ञानों को बढ़ावा देना

♠ अभिकथन (A) : डॉ. अंबेडकर के अलावा कोई अन्य नेता दलित वर्गों को अपने स्वयं के विकास के लिए जागृत और एकजुट करने में सफल नहीं रहा क्योंकि उन्होंने उन्हें उनकी अस्मिता-भाव प्रदान किया।

तर्क (R) : डॉ. अंबेडकर का सम्पूर्ण व्यक्तित्व एक ऐसी सामाजिक व्यवस्था के मुखर विरोध के प्रति समर्पित था, जिसने उन्हें और उनके लोगों के जीवन को सामाजिक बहिष्करण, भौतिक वंचना और सामाजिक आघात और अपमान को ओर धकेला था।

(A) और (R) दोनों सही हैं तथा (R) (A) की सही व्याख्या करता है।

♠ सही सुमेलित हैं –

मलिक सरवर     –    जौनपुर सल्तनत

अलाउद्दीन हसन    –    बहमनी सल्तनत

जफर खां    –   गुजरात सल्तनत

दिलावर खां गोरी    –   मालवा सल्तनत

♠ चिश्ती सूफी शेखों का सुव्यवस्थित कालक्रम क्या है ?

सलीम चुश्ती

निजामुद्दीन औलिया

नोइनुद्दीन चिश्ती

गेसूदराज

उत्तर – मोइनुद्दीन चिश्ती (12वीं सदी)

निजामुद्दीन औलिया (13वीं सदी)

गेसूदराज (14वीं सदी)

सलीम चिश्ती (15वीं सदी)

♠ निम्न में से कौन-सा छोटे सावधिक बाजारों तथा बड़े व्यापारिक केंद्रों के बीच के स्थानीय विनिमय केंद्र को इंगित करता है ?

तेवराम

मंडपिका

अग्रहार

गण

उत्तर – मंडपिका

♠ उस स्थल की पहचान कीजिए जहाँ घोड़ा होने के प्रमाण मिले हैं  –

गलिगाइ (1895-1695 ई. पू.)

इनामगंज (करीब 1400 ई. पू.)

पिराक (करीब 1300 ई. पू.)

‘सूफीवाद तब सर्वेश्वरवादी बनना शुरु हुआ जब इब्न अल अरबी (1240 ई. में मृत्यु) के विचार सबसे पहले जलालुद्दीन रुमी (1207-73 ई.) और अब्दुल रहमान जउनी (1414-92 ई.) के फारसी काव्य और उसके बाद अशरफ जहाँगीर सिमनोनी (15वीं शताब्दी के प्रारंभ) के भारत के भीतर प्रयासों पर अपना प्रभाव डालने लगे। इसी समय शंकराचार्य की वेदांत विचारधारा के सर्वेश्वरवाद का प्रभाव ब्राह्मणवादी विचारों के भीतर लगातार बढ़ रहा था।’

इसे भी पढ़ें  इतिहास की महत्वपूर्ण तिथियाँ (Important Dates of History)

बाबर, अकबर, जहांगीर, औरंगजेब में से किस मुगल शासक ने सबसे पहले इस विचार को पहचाना ?

उत्तर – जहांगीर

♠ निम्नलिखित मुगल शासकों का सही कालक्रम क्या है ?

मुहम्मदशाह

फर्रुखशियर

जहांदारशाह

बहादुरशाह

उत्तर – बहादुर शाह – जहाँदार शाह – फर्रुखशियर – मुहम्मदशाह

♠ किस स्थल पर 2001 में जीवाश्मीकृत मानव शिशु कपाल पाया गया था ?

उत्तर -ओडई

♠ किन पुराणों में बुद्ध को विष्णु के अवतारों की सूची में सम्मिलित किया गया है ?

उत्तर – अग्नि पुराण, मत्स्य पुराण, भागवत पुराण

♠  वह सम्राज जिसने मनसबदारी पृथा में दो-अस्पा, सिंह-अस्पा को लागू किया था –

उत्तर – जहांगीर

♠ अलाउद्दीन की कृषि व्यवस्था में गयासुद्दीन तुगलक द्वारा अनेक परिवर्तन गिये गए। इस संदर्भ में सही कथन हैं –

उसने किसानों का बोझ कम करने के लिए हुक्म-ए-मसाहत (माप) के स्थान पर हुक्म एक हासिल (फसल बंटाई) को अपनाया।

उसने खेती और चरागाह को कर-निर्धारण से छूट प्रदान की।

ग्यासुद्दीन ने ग्राम प्रमुखों को साधारण किसानों के स्तर पर लाने के अलाउद्दीन के सिद्धांत में विश्वास नहीं किया और उनकी उपलब्धियों को बहाल किया।

♠ अधिकारियों का एक समूह बनाया गया जिसका काम जरूरत के वक्त फौज को जुटाना था। इसके अलावा दो सौ एक जवान अथवा सिलाहदारान थे जिनका काम सुल्तान के निजी शस्त्रों का संरक्षण था। सुल्तान के 400 अंगरक्षक थे, जिन्हें ‘खासह खेल’ कहा जाता था।’ गुलबर्गा का यह बहमनी सुल्तान कौन था ?

उत्तर – मुहम्मद प्रथम

♠ अभिकथन (A) : गुप्त काल को सांस्कृतिक विकास के क्षेत्र में प्रायः क्लासिकल युग कहा जाता है।

कारण (R) : गुप्तकाल के कलात्मक आदर्शों  की प्रशंसा करते हुए यह तर्क दिया जाता है कि यह एक ऐसा युग है, जिसमें कलात्मक-क्रियाकलापों का आश्चर्यजनक विकास देखने को मिला।

उत्तर -(A) और (R) दोनों सही हैं परंतु (A) की सही व्याख्या (R) नहीं है।

♠ मेगस्थनीज के अनुसार एस्टीनोमोई मौर्य  प्रशासन में क्या था ?

उत्तर – जिला प्रशासन का प्रभारी

♠ अभिकथन (A) : लगभल 1715 से बंगाली व्यापारियों ने ब्रिटिश नौपरिवहन सोवा से विकल्प और अपने मालवाहक यातायात के लिए ब्रिटिश पोतों के उपयोग को प्राथमिकता दी।

तर्क (R) : वे निजी जहाज अपना माल सौंपने में असल में उस कंपनी को माल सुपुर्द कर रहे थे, जिसका अंग्रेजों के पास विशेषाधिकार था।

उत्तर – (A) और (R) दोनो सही हैं तथा (A) की सही व्याख्या (R) है।

♠ सही सुमेलित हैं –

सूची-1 (स्त्रोत)        सूची-2 (क्षेत्र)

चचनामा      –   सिंध

निस्खा ए दिलकुशा    –  दक्कन

रिजाय उल सलातिन    –   बंगाल

मिरात ए अहमदी      –    गुजरात

♠ मौर्य प्रशासन रिपोर्टरों को क्या कहा जाता था ?

उत्तर – प्रतिवेदक

♠ अभिकथन (A) : नालंदा ताम्रपत्र से हमे पता चलता है कि पाल राजा देवपाल ने सुवर्णद्वीप और यवभूमि के राजा द्वारा नालंदा में निर्मित बौद्ध विहारों के रखरखाव के लिए, पांच गांवों का दान दिया था।

कारण (R) : यह शैलेंद्र राजाओं द्वारा अपने मातृभूमि के साथ लंबे समय तक संबंध रखने का एक अद्वितीय साक्ष्य है।

उत्तर – (A) और (R) दोनो सही हैं तथा (A) की सही व्याख्या (R) है।

UGC NET HISTORY PAPER

♠ निम्नलिखित स्मारकों का सही कालक्रम क्या है ?

अकबर का मकबरा – सिकंदरा

चारमीनार – हैदराबाद

शेख सलीम चिश्ती का मकबरा – फतेहपुर सीकरी

उत्तर –

शेख सलीम चिश्ती का मकबरा – फतेहपुर सीकरी (1571-80 ई.)

चारमीनार – हैदराबाद (1591 ई.)

अकबर का मकबरा – सिकंदरा (1605-13 ई.)

♠ मिल के हिस्ट्री ऑफ ब्रिटिश इंडिया के संबंध में सही कथन हैं –

इसने भारत की पारंपरिक संस्थाओं को जड़ और पश्चगामी पाया

मिल द्वारा किया गया विश्लेषण साम्राज्यिक सरकार के अनुकूल था

यह हेलीवरी कॉलेज में भारतीय सिविल सेवा के ब्रिटिश अधिकारियों हेतु भारत के संबंध में एक पाठ्यपुस्तक बनी।

♠ सही सुमेलति कीजिए –

सूची-1 (प्रशासनिक इकाई)        सूची-2 (पदाधिकारी)

सरकार  –  फौजदार

परगना   –   शिकदार

मुशरिफ  –  राजस्व सचिव

सूबा  –  तरफदार

उत्तर – सही सुमेलित हैं।

♠ सिख धर्म के संबंध में सही कथन हैं –

1750 ई. के दशक से सिख दल और मिसाल (समूह) अलग-अलग प्रमुखों (सरदारों) के नेतृत्व में अधिक-से-अधिक शक्तिशाली बन गए जिन्होंने अत्यंत पेशेवर तरीके से हथियारबंद सैनिक तैयार किये।

चक गुरु (अमृतसर) में वार्षिक शरबत खालसा के आयोजन की पृथा थी परंतु आपसी भेदभाव के कारण प्रत्येक सरदार ने अपने लिए अलग क्षेत्र के निर्माण का इरादा बनाया। इस प्रक्रिया पर अंत में रणजीत सिंह (1780 – 1839 ई.) ने रोक लगाई। उन्होंने खालसा के नाम से पंजाब में एक राज्य की स्थापना की।

सभी गुरु खत्री थे, परंतु सत्रहवीं शताब्दी में इनके सेनापति अर्थात मसंद अधिकांश जाट थे।

♠ अलाउद्दीन खिलजी की मौत के बाद उसकी मूल्य नियंत्रण व्यवस्था ध्वस्त हो गई और कुतुबुद्दीन मुबारक खिलजी के शासनकाल में कीमतों में तेजी से बढ़ोत्तरी हुई। कौन-सा इतिहासकार/यात्री मुबारक खिलजी के शासनकाल के दौरान बढ़ती कीमतों के बारे में उल्लेख करता है ?

उत्तर – शेख मुबारक

♠ सही सुमेलित हैं –

सूची-1 (राज्य)      सूची-2 (भौगोलिक सीमा)

अवंति  –  मध्य भारत का मालवा क्षेत्र

चेदि  –  मध्य भारत में बुंदेलखंड का पूर्वी भाग

वज्जि –  नेपाल की पहाड़ियों तक गंगा का उत्तरी भाग

गांधार  –  आधुनिक पेशावर और रावलपिंडी जिले तथा कश्मीर घाटी

♠ सही सुमेलित हैं –

द्रविड़ शैली – इस शैली की सबसे महत्वपूर्ण विशेषता उनके पिरामिडाकार शिखर हैं।

वासर (बेसर) शैली – यह उत्तरी और दक्षिणी शैलियों का मिश्रण है।

नागर शैली  –  मागर मंदिरों का आधार वर्गाकार होता है जिसकी प्रत्येक भुजा के मध्य में अनेक प्रक्षेप होते हैं, जो उसे क्रॉस रूप प्रदान करते हैं।

♠ चट्टानों और मुक्त रूप से खड़े स्तंभों पर उत्कीर्ण लेखों के लोक प्रदर्शन की विधि भारतीय शासकों द्वारा अखामेनी, यूनानी, शक एवं पार्थियन में से किनके द्वारा अपनाई गई संबंधित प्रथा का अनुकरण थी ?

उत्तर – अखामेनी

♠ कालीबंगा, जहाँ प्राक्-हड़प्पा संस्कृति के अनेक स्थल पाए गए हैं, किस क्षेत्र में स्थित था ?

उत्तर – राजस्थान

♠ मीर जुमला ने अहोम राज्य पर हमला करके अहोम की राजधानी गढ़गांव पर कब्जा कर लिया। 1663 ई. में अहोम राज्य और उसके बीच एक संधि हुई। अहोमों ने किस वर्ष मुगलों को कुछ जहाजों को छोड़ने और मानस नदी की सीमा के रूप में स्वीकार करने के लिए बाध्य किया ?

उत्तर – 1681 ई.

♠ निम्नलिखित में से कौन सा राजस्व मुक्त भूमि अनुदान नहीं था ?

मदद-ए-माश

पुण्य उदक

अल्तमगा जागीर

सुयरघाल

उत्तर – अल्तमगा जागीर

♠ दीनबंधु मित्रा द्वारा लिखे गए नाटक में बंगाल के बागान मजदूरों के शोषण को उजागर किया गया है –

उत्तर – नील दर्पण

♠ बादामी के निकट महाकुटेश्वर स्थित मंदिरों के समूह से उस मंदिर को पहचानें जिसके गर्भगृह के एक भाग का कुछ महत्व है –

कदासिद्धेश्वर

संघमेश्वर

हुचिमल्लीगुड़ी

गलागनाथ

उत्तर – संघमेश्वर

♠ सही सुमेलित हैं –

सूची-1 (लेखक)                 सूची-2 (लेख)

बी. बी लाल               –  परहेप्स दि अर्लिएस्ट प्लाउड पील्ड सो फॉर एक्सकेवेटिड एनीह्येर इन द वर्ल्ड

मार्सिया ए. फेन्ट्रेस     –  रीजनल इंटरेक्शन इन इंडस वैली अर्बेनाइजेशन

इरफान हबीब          –  इमेजिनिंग रिवर सरस्वती – अ डिफेंस ऑफ कॉमनसेंस

आर. एच. मीडो       –  दि डोमेस्टिकेशन एंड एक्सप्लायटेशन ऑफ प्लांट्स एंड एनिमल्स इन दि ग्रेटर                                        इंडस वैली

♠ अग्रहारों के संबंध में सही है –

यह एक संस्कृत शब्द है, जिसका प्रयोग विशेष रूप से प्रथम सहस्त्राब्दी के मध्य से हुआ था।

यह एक ऐसा शब्द था, जो ब्राह्मणों के दिये जाने वाले भूमि अनुदान की एक श्रेणी का पदनाम था

इसे भी पढ़ें  भारत शासन अधिनियम 1935

सामान्य तौर पर ये अनुदान स्थायी होते थे। दान प्राप्तकर्ता को उत्पादन संघटित करने और भूमि से राजस्व व अन्य संसाधन एकत्र करने का अधिकार दिया जाता है।

UGC NET HISTORY PAPER

♠ ‘यदि हम आहार में निकले लोहा की बात छोड़ दें, तो भारत में प्रारंभिक लौह स्तर हेतु सभी 14 कार्बन (14 C) तिथियां करीब 1000 ई. पू. अथवा इससे थोड़ा पहले की आती हैं। यह मत किसका है ?

उत्तर – इरफान हबीब

♠ सही कथन हैं –

बलूतेदारों से यह अफेक्षा की जाती थी कि जरुरत पड़ने पर वे अपनी क्षमता के अनुसार ग्रामीणों की सेवा करें।

वे गाँव के मंदिरों के चढ़ावे का एक निश्चित हिस्सा और विशेष अवसरों  पर कुछ अन्य परिलब्धियों के पात्र थे।

स्थायी बेलूतेदारों के सेवा के अधिकारों और विभिन्न पारिश्रमिक प्राप्त करने के अधिकार को उके मिरास या वतन के रूप में मान्यता प्रदान की गई।

♠ सही सुमेलित हैं –

सूची-1 (पुस्तक)          सूची-2 (लेखक)

महाभाष्य  –  पतंजलि

अष्टध्यायी  –  पाणिनि

तंत्रलोक  –  अभिनवगुप्त

काव्यदर्श  –  दंडी

♠ सही सुमेलित कीजिए –

सूची-1 (इतिहास-दर्शनशास्त्र)                सूची-2 (कृतियां)

मार्क ब्लॉक              मेटाहिस्ट्री

माइकल फूको         हिस्टोरियन्स क्राफ्ट

हेडेन व्हाइट             कल्चर एंड इम्पीरियलिज्म    

एडवर्ड सईद            द आर्कियोलॉजी ऑफ नॉलेज

उत्तर –

हेडेन व्हाइट  –  मेटाहिस्ट्री

मार्क ब्लाक  –  हिस्टोरियन्स

एडवर्ड सईद  –  कल्चर एंड इम्पीरियलिज्म

माइकल फूको  –  द आर्कियोलॉजी ऑफ नॉलेज

♠ किस मुगल सम्राट ने कश्मीर के श्रीनगर में दिवाली मनाई थी ?

उत्तर – अकबर

♠ गुलबर्गा की जामा मस्जिद की विशेषताएं –

भारतीय और ईरानी तत्व परस्पर ऐसे गुथे हुए हैं कि उन्हें अलग-अलग नहीं किया जा सकता, संपूर्ण संरचना विशालकाय स्तंभयुक्त छतदार भवन हैं, सात पंक्तियों में व्यवस्थित छोटे गुंबदों से संपूर्ण छत आच्छादित है।

♠ सही सुमेलित कीजिए –

सूची-1 (लेखक)           सूची-2 (पुस्तक)

भीमसेन       आलमगीरनामा

मोतमद खां        शाहजहांनामा

इनायत खान     नुस्खा-ए-दिलकुशा

मुहम्मद काजिम     इकबालनामा-ए-जहांगीरी

उत्तर –

भीमसेन    नुस्खा-ए-दिलकुशा

मोतमद खां    इकबालनामा-ए-जहांगीरी

मुहम्मद काजिम    आलमगीरनामा

इनायत खान    शाहजहांनामा

♠  अभिकथन (A) तर्क दिया जाता है कि आरंभिक ऐतिहासिक दक्षिण भारत में कवियों द्वारा किया गया गुणगान राजनीतिक सत्ता का आधार नहीं था।

कारण (R) उक्त काल के कवि अपनी भौतिक खुशहाली के लिए राजाओं पर निर्भर होते थे।

(A) गलत है परंतु (R) सही है।

♠ निम्न में से किस महाजनपद से यूनानियों के खिलाफ लड़ने वाली फारसी सेना को पुरुषों और सामग्री की आपूर्ति होती थी ?

मगध

गांधार

वत्स

कम्बोज

उत्तर – गांधार

♠ राजनीतिक संगठनों का उनके स्थापना का कालक्रम –

बॉम्बे एसोसिएशन – 1582 ई.

पूना सार्वजनिक सभा – 1870 ई.

मद्रास महाजन सभा – 1884 ई.

बाम्बे प्रेसिडेंसी एसोसिएशन – 1885 ई.

♠ मनके बनाने वाली कार्यशाला किस हड़प्पन स्थल पर पायी गई है ?

उत्तर – लोथल

♠ किस फारसी पुस्तक में कपास धुनने के चाप का प्रारंभिक साहित्यिक संदर्भ मिलता है ?

उत्तर – काव्वाज लेक्सिकन

♠ मनुस्मृतिम में मिश्रित जातियों को दिये जाने वाले विभिन्न दर्जों के संबंध में सही तथ्य हैं –

यदि महिला का संबंधित दर्जा  पुरुष के दर्जे से ऊंचा होता था, तो ऐसे विवाह की संतितियों को माता-पिता के दर्जों से नीचे रखा जाता था।

वर्ण दर्जे के हिसाब से दो या तीन डिग्री नीचे की महिला से जन्में बच्चों से शूद्रों में एक नया समूह निर्मित होता था।

वर्ण व्यवस्था में एक दर्जा कम की पत्नी से जन्में बच्चों को द्विजों के भार के रूप में स्वीकृति मिलती थी।

♠ राजशेखर के संबंध में सही कथन है –

यह प्रतिहार शासक महेन्द्रपाल और महिपाल का दरबारी कवि था।

UGC NET HISTORY PAPER

♠ अभिकथन (A) : राष्ट्रवादी इतिहास लेखन ने भारतीय संस्कृति के आध्यात्मिक घटक तथा पश्चिमी संस्कृति के भौतिकवादी आधार को एक आवश्यक और अंतर्निहित अंतर के रूप में देखा।

कारण (R) : यह अंशतः उस विचार की प्रतिक्रिया थी, जिसकी यह धारणा थी कि धर्म भारत के पारंपरिक समाज में एक ऐसा केंद्रीय कारक था जिसने प्रगति को अवरुद्ध किया।

उत्तर – (A) और (R) दोनों सही हैं और (A) की सही व्याख्या (R) है।

♠ ‘‘समाजशास्त्रियों ने यह बताया है कि जातियां भी संस्कृतीकरण के रूपों के अंतर्गत अपने व्यवसायों के साथ-साथ अपने दर्जे में केस परिवर्तन करती हैं।”

संस्कृतीकरण के सिद्धांत का प्रतिपादन किसने किया था ?

उत्तर – एम. एन. श्रीनिवास

♠ दक्षिण भारत के किन स्थलों में चौदह घोषणाओं वाले अशोककालीन शिलालेख पाए गए हैं ?

एर्रगुड़ी (आंध्रप्रदेश) एवं सन्नति (कर्नाटक) में

♠ निम्नलिखित में से किसको खगोलीय उपकरणों के सुव्यवस्थित विवरण वाली पहली उपलब्ध भारतीय रचना कहा जाता है ?

सूर्य सिद्धांत

खंड़ाखंड़ाइका

ब्रह्मास्फुट सिद्धांत

आर्यभट्टीय

उत्तर- ब्रह्मास्फुट सिद्धांत

♠ शाहजहानाबाद में साहिबाबाद बगीचे का निर्माण किसने कराया था। जिसे धनी व्यापारियों के लिए सराय के रूप में उपयोग किया जाता था ?

उत्तर – जहां आरा बेगम

♠ आरंभिक तमिल साहित्य किसका साक्ष्य प्रस्तुत करता है ?

उत्तर – जाति प्रथा की अनुपस्थिति

♠ कांग्रेस के करांची अधिवेशन (1931) में जमनादास मेहता, स्वामी गोविंदानंद, युसुफ मेहरली एवं पुरुषोत्तम दास ठाकुर दास में से किस प्रतिनिधि (डेलीगेट) ने गाँधी-इरविन समझौते का विरोध नहीं किया ?

उत्तर – पुरुषोत्तम दास ठाकुर दास

♠ स्त्रोत जो सिंध के इतिहास से संबंधित हैं –

उत्तर – तारीए ए वाहिरी, और मजहर ए शाहजहानी

UGC NET HISTORY PAPER –

♠ निम्नलिखित में से किसमें रोडियोकार्बन काल निर्धारण तकनीक लागू की जाती है ?

पुरालेख विद्या

पुरातत्व विज्ञान

पुरालेख सामग्री

पाण्डुलिपि

उत्तर – पुरातत्व विज्ञान

♠ भारतीय उपमहाद्वीप के किस नवपाषाणकालीन स्थल पर फसल उत्पादन का प्राचीनतम साक्ष्य पाया गया है।

उत्तर – मेहरगढ़

♠ अभिकथन (A) : राजशेखर ने बालरामायण शीर्षक एक नाटक लिखा था।

तर्क (R) : वह प्रतिहार राजा राजभद्र के शिक्षक थे।

उत्तर – (A) सही है, परंतु (R) गलत है।

♠ स्तूप के बारे में सही कथन हैं –

स्तूपों के निर्माण की पृथा प्राक-बौद्ध काल में थी

जैन धर्मावलंबियों ने भी प्रारंभिक काल में स्मारक के इस रूप का निर्माण किया था

बुद्ध ने अपने अस्थि-अवशेषों पर स्तूपों के निर्माण का आदेश दिया था

UGC NET HISTORY PAPER

♠ पलामू (रांची) की किस जनजाति ने 1857 के विद्रोह में भाग नहीं लिया था ?

उत्तर – मुंडा और ओरांव

♠ ‘इतिहास का कार्य अतीत का मूल्यांकन करना और भावी यूगों के लाभार्थ वर्तमान का अनुदेश करना है’ इतिहास की उपर्युक्त परिभाषा किसने दी है?

उत्तर – जी. पी. गूच

फरिश्ता लिखते हैं ‘उनके देश में अच्छी बसावट थी और जनता उनकी सत्ता के प्रति समर्पित थी। मालाबार, सिलोन तथा अन्य देशों के रईसों ने उनके दरबार में दूत रखे हुए थे और प्रतिवर्ष महंगे उपहार भेजते थे।’

उत्तर – बुक्का प्रथम

♠ बागोर साइट के संबंध में सही है –

यह राजस्थान में अवस्थित है।

जब बैल, भेंड़, बकरी और सुएर का करीब 5000 ई. पू. से ही पालतू पशु के रूप में पालन किया जाता था।

इसके विशुद्ध मध्यपाषाण प्राक-भाण्ड चरण के होने के संबंध में हमारे पास 5365-3775 ई. पू. की अवधि की कार्बन तिथियां हैं।

♠ भारतपुर पुरातात्विक स्थल के संबंध में सही कथन –

यह पश्चिम बंगाल में स्थित है।

कालावधि 1 में मछली पकड़ने, शिकार करने और कृषि के साक्ष्य मिले हैं।

कालावधि 2 में लोहे औह उत्तरी काले चमकदार मृदभांड के प्रयोग के साक्ष्य में मिले हैं।

♠ अभिकथन (A) : अब इस संबंध में काफी कम संदेह है कि सिंधु घाटी सभ्यता के कतिपय पहलू द्वितीय और प्रथम सहस्त्राब्दि की संस्कृतियों में मिलते हैं।

कारण (R) : सिंधु खाटी सभ्यता और वैदिक संस्कृति के बीच प्रारंभिक हैती सभ्यता के अस्तित्व को अब नहीं माना जाता है।

उत्तर – (A) और (R) दोनों सही हैं परंतु (A) की सही व्याख्या (R) नहीं है।

– UGC NET HISTORY PAPER

(Visited 5 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published.