उत्तराखंड सामान्य ज्ञान (Uttarakhand General Knowledge)

उत्तराखंड भारत के 28 राज्य व 8 केंद्रशासित प्रदेशों में से एक है। इसकी राजधानी ‘देहरादून’ है। पहले इसे ‘उत्तरांचल’ के नाम से जाना जाता था। उत्तराखंड में तमाम पवित्र स्थल होने के कारण इसे देवभूमि भी कहा जाता है।

उत्तराखंड : एक नजर में

राज्यउत्तराखंड
राजधानीदेहरादून
स्थापना9 नवंबर 2000
मुख्यमंत्रीपुष्कर सिंह धामी
राज्यपालगुरमीत सिंह
संभाग/मंडल2
जिले13
तहसीलें 110
क्षेत्रफल53483 वर्ग किमी
राजकीय पशुकस्तूरी मृग
राजकीय पक्षीहिमालयी मोनल
राजकीय फूलब्रह्मकमल
राजकीय वृक्षब्रंश
उच्च न्यायालयनैनीताल हाई कोर्ट
राजकीय विधायिकाएकसदनीय
विधानसभा सदस्य70 + 1
लोकसभा सदस्य05
राज्यसभा सदस्य03
विकासखंड95
साक्षरता दर79.63 प्रतिशत
सर्वाधिक क्षेत्रफल वाला जिलाउत्तरकाशी
सबसे कम क्षेत्रफल वाला जिलाचंपावत
प्रथम राज्यपालसुरजीत सिंह बरनाला
प्रथम मुख्यमंत्रीनित्यानंद स्वामी
जनसंख्या1,01,16,752
न्याय पंचायत670
ग्राम पंचायत7950
गाँव16674
नगर निगम06
नगर पंचायत47
छावनी परिषद09
लिंगानुपात963/1000
राजकीय भाषाहिंदी, संस्कृत
बोलियांकुमाऊंनी व गढ़वाली
प्रमुख नदियांगंगा, यमुना, शारदा, रामगंगा, अलकनंदा, मंदाकिनी, भागीरथी, कोसी, गौरी।
प्रमुख झीलेंनैनी झील, भीमताल झील, डोडीताल झील, नील ताल, सात ताल, देवरियाताल, रूपकुंड झील
उद्यानजिम कार्बेट नेशलन पार्क, नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान, फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान, राजाजी राष्ट्रीय अभ्यारण्य, गंगोत्री राष्ट्रीय उद्यान, और गोविंद पशु विहार
मेलेकुंभ मेला (हरिद्वार)
सर्वोच्च पर्वत शिखरनंदादेवी
ग्लेशियरगंगोत्री, यमुनोत्री, नंदादेवी, दूनागिरि, पिंडारी, व माइकटोली
जनजातियांथारू, बुक्सा, भोटिया, राजी, व जौनसारी
चार धामगंगोत्री, यमुनोत्री, बंद्रीनाथ, व केदारनाथ

उत्तराखण्ड राज्य निर्माण –

उत्तराखंड पहले उत्तर प्रदेश का हिस्सा हुआ करता था।

9 नवंबर 2000 को यह उत्तर प्रदेश से अलग होकर नया राज्य बना।

देश के 27 वें राज्य के रूप में उत्तरांचल के नाम से यह अस्तित्व में आया।

बाद में जनवरी 2007 में इसका नाम बदलकर उत्तराखंड कर दिया गया। 9 नवंबर से पूर्व के इसके इतिहास के बारे में जानने के लिए उत्तर प्रदेश वाली पोस्ट देखें।

इसे भी पढ़ें  पश्चिम बंगाल सामान्य ज्ञान (West Bengal)

उत्तराखण्ड राज्य की राजधानी –

देहरादून उत्तराखंड की अस्थाई राजधानी है।

मार्च 2020 में राज्य के गैरसैंड़ क्षेत्र को उत्तराखंड की ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाए जाने की घोषणा की गई।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्रियों की सूची व कार्यकाल

मुख्यमंत्रीकब सेकब तक
नित्यानंद स्वामी9 नवंबर 200029 अक्टूबर 2001
भगतसिंह कोश्यारी30 अक्टूबर 20011 मार्च 2002
नरायणदत्त तिवारी2 मार्च 20027 मार्च 2007
बी. सी. खंडूरी7 मार्च 200726 जून 2009
रमेश पोखरियाल 'निशंक'27 जून 200910 सितंबर 2011
बी.सी. खंडूरी1 सितंबर 201113 मार्च 2012
विजय बहुगुणा13 मार्च 201231 जनवरी 2014
हरीश रावत1 फरवरी 201427 मार्च 2016
हरीश रावत21 अप्रैल 201622 अप्रैल 2016
हरीश रावत11 मई 201618 मार्च 2017
त्रिवेंद्र सिंह रावत18 मार्च 20179 मार्च 2021
तीरथ सिंह रावत10 मार्च 20214 जुलाई 2021
पुष्कर सिंह धामी4 जुलाई 2021वर्तमान

भौगोलिक क्षेत्र –

राज्य के उत्तर का अधिकांश क्षेत्र वृहत्तर हिमालय का भाग है। यह उच्च हिमालयी चोटियों व हिमनदों से घिरा हुआ है।

उत्तराखंड की भौगोलिक सीमाएं –

राज्य की उत्तरी सीमा चीन (तिब्बत) से, पूर्वी सीमा नेपाल से, दक्षिणी सीमा उत्तर प्रदेश से और पश्चिमोत्तर सीमा हिमाचल प्रदेश से मिलती है।

उत्तराखण्ड के प्रमुख दर्रे –

माना दर्रा, बरास दर्रा, लिपुलेश दर्रा, थांगला दर्रा, रालमपास दर्रा, लम्पयाधुरा दर्रा, नोती दर्रा, कुरंगी-बुरंगी दर्रा इत्यादि प्रमुख दर्रे हैं।

उत्तराखंड के मण्डल व जिले-

उत्तराखंड में 02 मंडल (कुमाऊं व गढ़वाल मंडल) हैं जिनमें कुल 13 जिले हैं। गढ़वाल मण्डल में सात और कुमाऊँ मंडल में 06 जिले हैं।

गढ़वाल मंडल के जिले

चमोली (Chamoli),  देहरादून (Dehradun), हरिद्वार (Haridwar),  पौड़ी गढ़वाल (Pauri Garhwal), रुद्रप्रयाग (RudraPryag), तेहड़ी गढ़वाल (Tehri Garhwal),  उत्तरकाशी (Uttarkashi)।

इसे भी पढ़ें  मिजोरम सामान्य ज्ञान (Mizoram General Knowledge)

कुमाऊँ मण्डल के जिले

अल्मोड़ा (Almora), चम्पावत Champawat), नैनीताल (Nainital), ऊधमसिंह नगर (UdhamSingh Nagar), बाघेश्वर (Bagheshwar), पिथौरागढ़ (Pithoragarh)।

प्रमुख पर्यटन स्थल –

नैनीताल, हरिद्वार, ऋषिकेश, नानकमत्ता साहिब, बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमनोत्री आदि।

ये उत्तराखंड के प्रमुख पर्यटन स्थल हैं।

कैलाश मानसरोवर यात्रा यहाँ के कुमाऊं क्षेत्र से होकर गुजरती है।

उत्तराखण्ड राज्य की नदियां –

उत्तराखंड में नदियों का प्रमुख महत्व है। यह राज्य बहुत सी नदियों का उद्गम स्थल है। यहां बहुत से पवित्र स्थल नदियों के किनारे बसे हुए हैं। राज्य की नदियों में गंगा, यमुना, शारदा, अलकनंदा, मंदाकिनी, भागीरथी प्रमुख हैं। इनके अतिरिक्त टोंस, कालीनदी, रामगंगा, कोसी, गौरी शामिल हैं। अलकनंदा की सहायक नदियों में मंदाकिनी, धौली, व विष्णु गंगा शामिल हैं। गंगा नदी गंगोत्री हिमनद से भागीरथी के रूप में निकलती है। देवप्रयाग में भागीरथी व अलकनंदा के संगम के बाद यह गंगा के रुप में आगे की ओर बहती है। यहां के बंदरपूंछ के पश्चिम में यमनोत्री हिमनद से यमुना का उद्गम होता है।

उत्तराखंड की झीलें –

राज्य की झीलों में नैनीताल, मासर ताल, जराल ताल, डूयोंढ़ी ताल, सात ताल, भीमताल, श्यामला ताल, सूखा ताल, सुरपा ताल, गरुड़ी ताल, शहस्त्रा ताल, नौकुचिया ताल, लोखम ताल, हरीश ताल, पार्वती ताल. रुपकुंड, गौरीकुंड, नंदी कुंड इत्यादि प्रमुख हैं।

खनिज व उद्योग-

राज्य में डोलोमाइट, मैग्नेसाइट, ग्रेफाइट, जिप्सम, ताँबा, चूना पत्थर, रॉक फास्फेट आदि खनिजों के प्रचुर भंडार हैं। यहाँ के अधिकांश उद्योग वनों पर आधारित हैं।

प्रमुख रेलवे स्टेशन –

देहरादून, हरिद्वार, काठगोदाम, रुड़की, हल्द्वानी, काशीपुर, ऊधमसिंहनगर, रामनगर इत्यादि राज्य के प्रमुख रेलवे स्टेशन हैं।

उत्तराखंड प्रमुख मेले व उत्सव –

उत्तराखंड के हरिद्वार में हर 12 साल बाद कुंभ मेला और हर 6 साल  बाद अर्द्धकुंभ मेले का आयोजन होता है। इसके अतिरिक्त चंपावत का पूर्णागिर मेला व देवीधुरा मेला, और अल्मोड़ा का नंदा देवी मेला, उत्तरकाशी का माघ मेला, वागेश्वर का उत्तरायणी मेला इत्यादि प्रमुख हैं।

इसे भी पढ़ें  ओडिशा सामान्य ज्ञान (Odisha General Knowledge)

उत्तराखण्ड के राष्ट्रीय उद्यान –

भारत का पहला राष्ट्रीय उद्यान ‘जिम कार्बेट नेशनल पार्क’ उत्तराखंड में ही अवस्थित है। इसके अतिरिक्त नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान, फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान, राजाजी राष्ट्रीय अभ्यारण्य, गंगोत्री राष्ट्रीय उद्यान, और गोविंद पशु विहार भी राज्य के प्रमुख उद्यान हैं।

हिमनद –

गंगोत्री, यमनोत्री, मिलम, सुंदर ढूंगा, पिण्डर, खतलिंग, व जौलिकांग राज्य के प्रमुख हिमनद हैं।

उत्तराखंड सामान्य तथ्य व जानकारी –

  • अक्टूबर 2020 में राजधानी देहरादून में मुख्यमंत्री सौर स्वरोजगार योजना की शुरुवात की गई।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का इस्तीफा –

भाजपा से मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने 9 मार्च 2021 को राज्य के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है।

ये राज्य के 8वें मुख्यमंत्री बने थे।

तीरथ सिंह रावत बने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री –

10 मार्च 201 को तीरथ सिंह रावत ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण की।

भाजपा सांसद तीरथ सिंह रावत उत्तराखंड के 9वें मुख्यमंत्री बने ।

त्रिवेंद्र सिंह रावत के इस्तीफे के एक दिन बाद इन्होंने मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण की।

तीरथ सिंह रावत का जन्म 9 अप्रैल 1964 को पौड़ी गढ़वाल जिले में हुआ था।

वर्तमान में ये पौड़ी लोकसभा सीट से सांसद हैं।

पुष्कर सिंह धामी बने उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री –

पुष्कर सिंह धामी ने 4 जुलाई 2021 को उत्तराखण्ड के 11वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली। उन्हें यह शपथ राज्य की राज्यपाल बेनीरानी मौर्य ने दिलाई।

(Visited 91 times, 1 visits today)